न्यूजीलैंड की संसद में रचा इतिहास, सांसद ने संस्कृत में ली शपथ

न्यूजीलैंड। न्यूजीलैंड के भारतीय मूल के सांसद डॉ.गौरव शर्मा ने बुधवार को इतिहास कायम कर दिया। वह विदेशी धरती पर संस्कृत में शपथ लेने वाले भारतीय मूल के पहले सांसद बन गए हैं। हिमाचल प्रदेश के ​के रहने वाले डॉ.शर्मा को हाल ही में न्यूजीलैंड में हुए चुनाव में लेबर पार्टी से सांसद चुना गया है।

न्यूजीलैंड की संसद में शपथ ग्रहण करने के दौरान डा.शर्मा ने संस्कृत भाषा में शपत को ग्रहण किया।जिसपर हाई कमिश्नर मुक्तेश परदेशी ने कहा,’सबसे युवा सांसदों में से एक और हाल ही में चुने गए गौरव शर्मा ने आज शपथ ली। पहले न्यूजीलैंड की देसी माओरी भाषा में शपथ ली, इसके बाद संस्कृत में भी शपथ ली। उन्होंने दोनों देशों की संस्कृति और परंपरा को सम्मान दिया है। हिंदी में शपथ ना लेने पर पूछे गए एक सवाल के जवाब में डॉ.शर्मा ने कहा,’मैंने इसके बारे में सोचा था। लेकिन सबको खुश रखना मुश्किल है। संस्कृत इसलिए अहम है क्योंकि यह सभी भारतीय भाषाओं का सम्मान है। डॉ.शर्मा ने हमिल्टन वेस्ट में टिम के माकीनडोब को 4386 वोटों से हराकर जीत हासिल की।

Gyan Dairy
Share