चीन को डोनाल्‍ड ट्रंप का बड़ा झटका, भारत के बाद अमेरिका में भी ‘TikTok’ बैन

अमेरिका (America) के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) ने टिकटॉक (TikTok) ऐप (App) को ‘खतरा’ बताते हुए बाइटडांस कंपनी के खिलाफ कार्यकारी आदेश जारी किया है। इस आदेश के प्रभावी होने में 45 दिन का समय लगता है और ये किसी भी अमेरिकी कंपनी या व्यक्ति को चीन मूल की कंपनी बाइटडांस के साथ लेनदेन पर बैन लगाता है।  यही नहीं अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने माइक्रोसॉफ्ट या किसी अन्‍य कंपनी के नहीं खरीदने की सूरत में देश में टिकटॉक को बैन करने के लिए 15 सितंबर की समयसीमा तय कर दी है।

अमेरिकी राष्‍ट्रपति ने गुरुवार शाम को चीनी ऐप टिकटॉक और वीचैट को 45 दिन के अंदर बैन किए जाने के आदेश पर हस्‍ताक्षर कर दिए। इससे पहले सीनेट ने एकमत से अमेरिकी कर्मचारियों के टिकटॉक इस्‍तेमाल नहीं करने वाले आदेश को अपनी अनुमति दी थी। बैन के आदेश पर हस्‍ताक्षर के बाद ट्रंप ने कहा कि यह बैन जरूरी है क्‍योंकि ‘अविश्‍वसनीय’ ऐप जैसे टिकटॉक से डेटा का इकट्ठा किया जाना देश की राष्‍ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा है।

चीनी कम्‍युनिस्‍ट पार्टी पर साधा न‍िशाना

Gyan Dairy

डोनाल्‍ड ट्रंप ने कहा, ‘डेटा के कलेक्‍शन से चीनी कम्‍युनिस्‍ट पार्टी की अमेरिकी लोगों के निजी और स्‍वामित्‍व संबंधी जानकारी तक पहुंच हो जाती है। इससे चीन अमेरिका के संघीय कर्मचारियों और ठेकेदारों के स्‍थानों को ट्रैक करनी की अनुमति मिल जाती है। यही नहीं कम्‍युनिस्‍ट पार्टी निजी सूचनाओं का ब्‍लैकमेल के लिए डोजियर बना सकती है और कारपोरेट जासूसी भी कर सकती है।’

टिकटॉक, माइक्रोसॉफ्ट और वीचैट के मालिकों ने तत्‍काल कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है। इससे पहले अमेरिकी व‍िदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने बुधवार को कहा था कि वह अमेरिकी कार्रवाई को चीनी तकनीकी से निजी ऐप तक बढ़ा रहे हैं। उन्‍होंने टिकटॉक और वीचैट का नाम भी लिया था। भारत में पहले ही सभी तरह के संदिग्‍ध चीनी ऐप पर पहले ही बैन लग गया है।

Share