UA-128663252-1

दूसरी बार राज्यसभा के उपसभापति चुने गये हरिवंश नरायाण सिंह, PM ने की तारीफ

नई दिल्ली। आज से ससंद का मानसून सत्र शुरू हुआ है। राज्यसभा में एनडीए उम्मीदवार हरिवंश नारायण सिंह दूसरी बार उपसभापति चुने गए। उन्होंने विपक्ष के उम्मीदवार मनोज झा को पराजित किया। इस दौरान, सदन को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने हरिवंश को दोबारा उपसभापति चुने जाने पर बधाई दी। उन्होंने कहा कि सदन के हरि पक्ष और विपक्ष दोनों के लिए एक जैसे ही रहेंगे।

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘सदन के सदस्य सभापति और उपसभापति को कार्यवाही चलाने के लिए जितना सहयोग करेंगे, उतना समय का सदुपयोग होगा। मैंने पिछली बार अपने संबोधन में कहा था कि मुझे भरोसा है कि जैसे हरि सबके होते हैं, वैसे सदन के हरि भी पक्ष और विपक्ष सबके रहेंगे। सदन के हरिवंश जी इस पार और उस पार सबके एक तरह से रहे और भेदभाव नहीं किया।’

पीएम मोदी ने कहा, ‘सामाजिक कार्यों, पत्रकारिता की दुनिया में हरिवंश जी ने जिस तरह की ईमानदार छवि बनाई, उसके लिए मेरे मन में उनके लिए बहुत सम्मान रहा है। यही सम्मान सदन के हर सदस्य के मन में भी है। यह भाव और आत्मीयता हरिवंश जी की अपनी कमाई हुई पूंजी है। जिस तरह वे सदन को चलाते हैं, उसको देखते हुए यह स्वाभाविक भी है। इस बार यह सदन अपने इतिहास में सबसे अलग संचालित हो रहा है। कोरोना के कारण जैसी परिस्थितियां हैं, उसमें यह सदन काम करे और जरूरी जिम्मेदारियों को पूरा करे, हम सभी का कर्तव्य है।’

Gyan Dairy

उन्होंने कहा, ‘मैंने यह भी कहा था कि सदन के इस मैदान में खिलाड़ियों से ज्यादा अंपायर परेशान रहते हैं। मुझे तो भरोसा था कि अंपायरिंग अच्छी करेंगे लेकिन जो लोग हरिवंश जी से अपरिचित थे, हरिवंश जी ने सभी का भरोसा जीत लिया। उन्होंने अपने दायित्व को सफलतापूर्वक पूरा किया है और दो साल इसका गवाह है। वे बिल को पारित कराने के लिए घंटों बैठे रहे और देश के भविष्य व दिशा को बदलने वाले अनेकों बिल पारित हुए।’

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘सदन के सदस्य के तौर पर हरिवंशजी ने देश की सेवा का पूरा प्रयास किया। उन्होंने सभी अंतरराष्ट्रीय पटलों पर देश की गरिमा बढ़ाने की पूरी कोशिश की। हर जगह हरिवंशजी ने देश का मान बढ़ाया है। राज्यसभा की कई समितियों के सदस्य भी रहे हैं। अपनी भूमिका को प्रभावी ढंग से रेखांकित किया। कभी वे बतौर पत्रकार ‘हमारा सांसद कैसा हो’ इसकी मुहिम चलाते रहे हैं। वे अभी भी देशभर में जाते हैं और लोगों को जागरूक करते हैं।’

Share