हिंदू समुदाय के नेताओं ने प्रांत में मंदिरों के लिए मांगी भू-माफियाओं से सुरक्षा

पेशावर। पाकिस्तान में अल्पसंख्यक हिंदू समुदाय के एक नेता ने रविवार को खैबर पख्तूनख्वा प्रांत के ऐबटाबाद जिले में स्थित एक मंदिर के लिए सुरक्षा की मांग की। उन्होंने इस पूजा स्थल की जमीन पर कब्जा करने की मंशा रखने वाले कुछ शरारती तत्वों द्वारा मंदिर पर हमले की आशंका जाहिर की है। हिंदू समुदाय के नेता हारून सरब दयाल ने कहा कि हवेलियन नगर में स्थित मंदिर एक पुराना ढांचा है और अब भू-माफिया इस धरोहर को नष्ट करना चाहता है। उन्होंने यहां मीडिया से कहा, मुट्ठी भर शरारती तत्व मंदिर की जमीन पर कब्जा करना चाहते हैं ताकि वे देश में अराजकता फैसला सकें।

दयाल ने कहा कि यह मुद्दा सिर्फ इसी मंदिर तक सीमित नहीं है, बल्कि पूरे पाकिस्तान में सैकड़ों अन्य मंदिरों, धर्म स्थलों, पाठशालाओं, अनाथ आश्रमों, श्मशान भूमि, सत्संग भवन, गुरुद्वारों और अन्य उपासना स्थलों की भी सुरक्षा करने तथा संरक्षण करने की जरूरत है। उन्होंने कहा, हम सरकार से अल्पसंख्यकों के स्थानों की सुरक्षा सुनिश्चित करने का अनुरोध करते हैं ताकि टेरी जैसी घटना रोकी जा सके। दिसबर में प्रांत के करक जिले में स्थित टेरी गांव में एक मंदिर पर भीड़ ने हमला कर उसे क्षतिग्रस्त कर दिया था। आधिकारिक अनुमानों के मुताबिक पाकिस्तान में 75 लाख हिंदू रहते हैं। हालांकि समुदाय के मुताबिक उनकी आबादी 90 लाख से अधिक है। पाकिस्तान की हिंदू आबादी का एक बड़ा हिस्सा सिंध प्रांत में रहता है। वहां वे अक्सर ही चरमपंथियों द्वारा प्रताड़ित किए जाने की शिकायत करते हैं।

Gyan Dairy
Share