कभी मुलायम सिंह यादव के हेलीकाफ्टर से भागे थे MLA विजय मिश्रा, ऐसे खड़ा किया साम्राज्य

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के भदोही जनपद की ज्ञानपुर विधानसभा सीट से निर्दलीय विधायक विजय मिश्रा आखिरकार पुलिस के हत्थे चढ़ ही गए। विजय मिश्रा को मध्य प्रदेश के आगर मालवा से पुलिस ने गिरफ्तार किया है। विजय मिश्रा के खिलाफ संगीन धाराओं के 73 मुकदमें दर्ज हैं और वह पहले भी कई बार सलाखों के पीछे जा चुके हैं। कभी ट्रक संचालन और पेट्रोल पंप के सहारे गुजर बसर करने वाले विजय मिश्रा देखते ही देखते अरबों के साम्राज्य के मालिक बन गए। समाजवादी पार्टी में उन्हें मुलायम सिंह यादव का करीबी माना जाता था।

विधायक विजय मिश्रा ने कई बार सार्वजनिक रूप से स्वीकार किया कि साल 2009 के फरवरी माह में भदोही में विधानसभा का उपचुनाव होना था। तत्कालीन बहुजन समाज पार्टी की सरकार के 40 मंत्री भदोही में डेरा डाले हुए थे। मुख्यमंत्री मायावती ने विजय मिश्रा से बसपा प्रत्याशी की मदद करने को कहा। बकौल विजय मिश्रा उनके इंकार करने पर मायावती ने उन्हें गिरफ्तार करने के लिए पुलिस भेज दी। उस समय समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव भदोही में सभा कर रहे थे। विजय मिश्रा ने उसी मंच से जनता को अपनी पत्नी रामलली के सिंदूर का वास्ता देते हुए कहा कि अब उनके सुहाग की रक्षा और सम्मान आप सबके हाथों में ही है।

विजय मिश्रा की बात सुनकर मुलायम सिंह ने कहा कि जिसकी हिम्मत हो पकड़कर दिखाए। इसके बाद मुलायम सिंह यादव विजय मिश्रा को हेलिकॉप्टर में लेकर चले गए। इसके बाद जुलाई 2010 में बसपा सरकार के मंत्री नंद कुमार नंदी पर प्रयागराज में हुए बम हमले का आरोप भी विजय मिश्रा पर लगा था।

लम्बे समय तक पुलिस से छिपने के बाद वर्ष 2011 में विजय मिश्रा ने दिल्ली स्थित हौज खास में लंबी दाढ़ी और लंबे बालों में साधु वेश में समर्पण किया था। जेल में ही रहकर वर्ष 2012 में वह सपा के टिकट पर ज्ञानपुर से विधानसभा का चुनाव लड़े और फिर विजयी हुए।
विजय मिश्रा पूर्व मुख्यमंत्री पंडित कमलापति त्रिपाठी के निर्देश पर राजनीति में आए और नब्बे के दशक में पहली बार ब्लॉक प्रमुख चुने गए।

Gyan Dairy

इसके बाद भदोही में हुए हर जिला पंचायत चुनाव में विजय मिश्र का हमेशा दखल रहा। साल 2001 में विजय मिश्रा सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव के नजदीकी हो गए।

इसके बाद विजय मिश्रा सपा के टिकट पर ज्ञानपुर से 2002, 2007 और 2012 का विधानसभा चुनाव जीते। वर्ष 2017 में सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने टिकट नहीं दिया तो निषाद पार्टी से विजय मिश्रा ने ज्ञानपुर विधानसभा का चुनाव जीता। इस बीच उनकी पत्नी रामलली मिश्रा भदोही से जिला पंचायत अध्यक्ष और एमएलसी का चुनाव भी जीतीं।

Share