Punjab के सीएम ने पाकिस्तान और चीन सीमा पर खतरे को लेकर किया अलर्ट

शनिवार को देश में हर्षोल्लास के साथ 74वां स्वतंत्रता दिवस मनाया गया। इस दौरान चीन और पाकिस्तान से खतरे को मानते हुए पंजाब  (Punjab) के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि “सीमाओं पर लड़ाई में पंजाब हमेशा आगे के मोर्चे पर रहेगा।” सीमा पर जारी तनाव के बीच भारत को किसी भी चुनौतियों से मुकाबला रहने को तैयार रहना होगा।

पंजाब के मुख्यमंत्री ने कहा, “एक तरफ जहां पाकिस्तान रोजाना फायरिंग कर रहा है तो वहीं दूसरी तरफ चीन दोस्ती की बात करता है लेकिन हमारे देश के लिए खतरा बना हुआ है। चीनी सैनिकों की तरफ से हमारे भारतीय सैनिकों पर बर्बरतापूर्ण हमले किए गए। भारत ने हमेशा पाकिस्तान को मुंहतोड़ जवाब दिया है, यह एक रास्ता है इससे निपटने का।” अमरिंदर सिंह ने कहा, “चीन के साथ भी इसी तरह से निपटना हमें होगा।”

लाखों स्वतंत्रता सेनानियों के योगदान को याद करते हुए मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि हर लड़ाई में पंजाबी आगे रहे हैं।उन्होंने कहा “काला पानी (अंडमान द्वीप समूह) की सेलुलर जेल में अमरता से सजी सैकड़ों पंजाबियों के नाम हैं।”

उन्होंने कहा, “भले ही इस साल स्वतंत्रता दिवस समारोह कोरोना महामारी के कारण उतने धूमधाम से नहीं मनाए गए, लेकिन यह उन सभी लोगों के बलिदानों को याद करने का समय था, जिन्होंने हमारे लिए स्वतंत्रता को संभव बनाया था। यह उन रक्षा प्रहरियों को सलाम करने का भी वक्त था जो राष्ट्र की सीमा पर दुश्मनों से सरहद की रक्षा करते है।”

पंजाबी स्वतंत्रता सेनानियों को श्रद्धांजलि देते हुए कैप्टन अमरिंदर सिंह ने अपनी सरकार की प्रतिबद्धताओं को दोहराया कि स्वतंत्रता सेनानियों के सभी फायदे उनकी अगली पीढ़ी को दिए जाएंगे। इसके साथ ही, उन्होंने कोविड-19 के खिलाफ मोर्चे पर डटे स्वास्थ्यकर्मियों और लॉकडाउन के दौरान बिना थके काम कर मुफ्त खाना और दवा पहुंचाने में लगे एनजीओ और धार्मिक संगठनों को सलाम किया।

Gyan Dairy

इससे पहलेष रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने शुक्रवार को कहा कि अगर दुश्मन देश हम पर हमला करता है, तो हम हर बार की तरह करारा जवाब देंगे। स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर सशस्त्र बलों को संबोधित करते हुए राजनाथ ने कहा, “हम राष्ट्रीय सुरक्षा के दायरे में जो कुछ भी करते हैं, हम हमेशा आत्मरक्षा के लिए करते हैं न कि दूसरों पर हमला करने के लिए।”

उन्होंने कहा, “भारत दिलों को जीतने में विश्वास रखता है, जमीन को नहीं; लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि हम किसी को भी हमारे आत्म सम्मान को ठेस पहुंचाने देंगे।”

राजनाथ सिंह ने सशस्त्र बलों से कहा, “इतिहास इस बात का गवाह है कि भारत ने कभी किसी पर हमला नहीं किया या किसी दूसरे देश की जमीन पर कब्जा करने की कोशिश नहीं की।” उन्होंने कहा, मैं आपको विश्वास दिलाता हूं कि सरकार वह सब कुछ कर रही है जो आपकी परिचालन आवश्यकता को बनाए रखने के लिए जरूरी है।

Share