रामभक्त ‘रावण’: घर में हैं 6 फीट का श्रीराम दरबार, विश्वविख्यात संत ने की थी स्थापना

नई दिल्ली। कोरोना वायरस के चलते देशव्यापी लॉकडाउन के दौरान दूरदर्शन पर लोकप्रिय धारावाहिक ‘रामायण’ का पुन: प्रसारण हो रहा है। रामानंद सागर की ‘रामायण’ के खलनायक यानी ‘रावण’ का किरदार निभाने वाले अरविंद त्रिवेदी के अभिनय को दर्शकों ने खूब सराहा। इसके साथ ही लोगों को पता चला कि रामायण में भरत, हनुमानजी, विभीषण, मंथरा, इंद्रजीत, सुग्रीव, त्रिजटा, दशरथ, और कौशल्या का किरदार निभाने वाले कलाकार अब इस दुनिया में नहीं रहे।

असल जिंदगी में रावण यानी अरविंद त्रिवेदी भगवान श्रीराम के भक्त हैं। सीरियल में वह ऐसा रोल निभा रहे थे, जिसमें उन्हें श्रीराम के लिए भला-बुरा कहना पड़ता था। अरविंद त्रिवेदी का मानना है कि वह जो भी हैं प्रभु श्रीराम की कृपा की से हैं। अरविंद त्रिवेदी ने गुजरात के जिला साबरकांठा, गांव इदर के अपने पैतृक घर में भगवान श्रीराम भगवान की 6 फिट की मूर्ति की स्थापना की है। यह मूर्ती उन्होंने जयपुर से बनवाई थी । विश्वविख्यात रामकथा वाचक संत मुरारी बापू ने साल 2001 में इस मूर्ती की प्राण प्रतिष्ठा की थी।

Gyan Dairy

अरविंद त्रिवेदी के घर पर श्रीराम की प्रतिमा के साथ ही लंकेश्वर महादेव की भी बड़ी मूर्ती की स्थापना की गई थी, इस मूर्ति की स्थापना 2015 में गणेश चतुर्थी के मौके पर की गई थी। अरविंद त्रिवेदी फिलहाल मुंबई के उपनगर कांदिवली में अपनी बेटी कविता के साथ रहते हैं। वह साल में 10 बार गुजरात में अपने गांव जरूर जाते हैं।

Share