रिया ने सुशांत की बहन प्रियंका के खिलाफ दर्ज कराया मुकदमा, CBI ही करेगी जांच

मुंबई। सुशांत सिंह राजपूत केस में सुशांत के परिजनो द्वारा रिया चक्रवती को मुख्य आरोपी बनाया गया है। इस मामले में सीबीआई जांच कर रहा है लेकिन इसी बीच ड्रग्स मामले को लेकर खुलासा हुआ तो एमसीबी ने भी जांच शुरू कर दी। आज एमसीबी ने रिया को ड्रग्स मामले में गिरफ्तार कर लिया है। वहीं रिया चक्रवर्ती ने मुंबई पुलिस से एक शिकायत दर्ज कराकर राजपूत की बहन प्रियंका सिंह और दिल्ली के एक डॉक्टर पर जालसाजी तथा दवाओं का ‘फर्जी नुस्खा तैयार करने का आरोप लगाया है। रिया ने सोमवार को बांद्रा थाने दर्ज कराई अपनी शिकायत में प्रियंका सिंह और दिल्ली स्थित राम मनोहर लोहिया अस्पताल में कार्यरत डॉ तरुण कुमार के खिलाफ जालसाजी के लिए भारतीय दंड संहिता के संबंधित प्रावधानों, नारकोटिक ड्रग्स और साइकोट्रोपिक पदार्थ (एनडीपीएस) कानून एवं दूरचिकित्सा पद्धति के दिशानिर्देशों के तहत मामला दर्ज कराया है।

मुंबई पुलिस के प्रवक्ता और डीसीपी एन अंबिका ने कहा, ‘रिया चक्रवर्ती की ओर से दर्ज शिकायत के अनुसार, बांद्रा पुलिस स्टेशन में एक प्राथमिकी दर्ज की गई है। सर्वोच्च न्यायालय के आदेश के अनुसार, इस मामले को केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) को जांच के लिए विधिवत स्थानांतरित कर दिया गया है।’ बता दें कि 19 अगस्त के अपने फैसले में सुप्रीम कोर्ट ने कहा था, ‘सुशांत सिंह राजपूत मौत मामले संबंधित यदि कोई अन्य मामला भी दर्ज है तो उसकी जांच भी सीबीआई ही करेगी।’

सोमवार को सुशांत सिंह केस में मुख्य आरोपी रिया चक्रवर्ती ने बांद्रा पुलिस स्टेशन में तीन लोगों का जिक्र कर छह पन्नों की एक शिकायत दर्ज कराई। रिया (28) ने अपनी शिकायत में कहा कि सुशांत को बाइपोलर डिसऑर्डर होने का पता चला था और उनका अनेक अन्य मानसिक सेहत संबंधी समस्याओं के लिए इलाज चल रहा था। उन्होंने शिकायत में कहा कि राजपूत सही से इलाज नहीं करा रहे थे और अकसर दवाएं लेना बंद कर देते थे।

रिया की शिकायत के अनुसार, ‘राजपूत ने आठ जून, 2020 को मुझे फोन के वो संदेश दिखाए जिनमें उनके और उनकी बहन प्रियंका के बीच बातचीत हुई है और प्रियंका ने उन्हें दवाओं की एक सूची भेजी है। मैंने राजपूत को बताया कि उन्हें डॉक्टरों ने पहले ही दवाएं बता रखी हैं जो उनका पहले से इलाज कर रहे हैं।’

रिया ने कहा, ‘हालांकि वह (राजपूत) मुझसे सहमत नहीं हुए और कहा कि केवल वो ही दवाएं लेंगे जो उनकी बहन कह रही हैं।’उन्होंने कहा कि उसी दिन राजपूत ने रिया से उनके घर से जाने को कहा कि क्योंकि उनकी बहन मीतू सिंह कुछ दिन के लिए रुकने आ रही थीं।

Gyan Dairy

शिकायत के मुताबिक, ‘यह बात सामने आ गयी है कि राजपूत ने आठ जून को अपनी बहन प्रियंका से कहा था कि वह उक्त दवाएं बिना डॉक्टर के परामर्श पत्र के नहीं ले पाएंगे। उसी दिन उनकी बहन प्रियंका ने उन्हें दिल्ली के डॉ राम मनोहर लोहिया अस्पताल में कार्यरत डॉ तरुण कुमार के हस्ताक्षर वाला नुस्खा भेज दिया।’

रिया ने अपनी शिकायत में कहा, ‘प्रथम दृष्टया प्रिसक्रिप्शन जाली लगता है। डॉक्टर ने जो दवाएं सुझाईं, उन्हें रोगी के साथ बातचीत के बिना डिजिटल तरीके से नहीं सुझाया जा सकता।’ उन्होंने कहा, ‘राजपूत की मौत यह प्रिसक्रिप्शन मिलने के कुछ दिन बाद हो गयी थी जिसमें उन्हें उनकी बहन प्रियंका और डॉक्टर तरुण कुमार के कहने पर गैरकानूनी तरीके से मन:प्रभावी पदार्थ का परामर्श दिया गया।’

रिया चक्रवर्ती की यह शिकायत सुशांत और उनकी बहन के बीच 8 जून को हुई वॉट्सऐप चैट को लेकर है। इसी दिन रिया चक्रवर्ती सुशांत का घर छोड़कर चली गई थीं। उस चैट से पता चल रहा था कि सुशांत की बहन प्रियंका ने उनसे हफ्तेभर तक लिब्रियम और रोजाना नेक्सिटो और लोनाजेप लेने के लिए कहा है। बता दें कि सुशांत सिंह राजपूत मौत मामले की जांच सीबीआई, ईडी और एनसीबी कर रही है। एनसीबी अब तक रिया से दो दिनों में 14 घंटे तक पूछताछ कर चुकी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share