संजय राउत बोले- राहुल गांधी के साथ पुलिस का दुर्व्यवहार लोकतंत्र के साथ गैंगरेप है

उत्तर प्रदेश के हाथरस में एक 20 वर्षीय दलित युवती की कथित रेप और अस्पताल में भर्ती रहने के दौरान मौत होने के मामले में देश में रोष व्यापत है। विपक्षी पार्टियां राज्य की योगी आदित्यनाथ सरकार पर निशाना साध रहे हैं। गुरुवार को पीड़ित परिवार से मिलने कांग्रेस नेता राहुल गांधी के साथ हाथरस के लिए पैदल मार्च करते समय उत्तर पुलिस ने दुर्व्यवहार किया और उन्हें रोका गया।

धक्का-मुक्की में राहुल गांधी नीचे गिर गए थे।  इसे लेकर शिवसेना नेता संजय राउत (Sanjay Raut) ने कड़ी प्रतिक्रिया जताई और इसे देश के लोकतंत्र का गैंगरेप बताया है.

शिवसेना के राज्यसभा सांसद राउत ने कहा, ‘राहुल गांधी एक राष्ट्रीय नेता हैं। हमारे कांग्रेस के साथ मतभेद हो सकते हैं लेकिन कोई भी उनके साथ पुलिस के व्यवहार का समर्थन नहीं कर सकता है। उनके कॉलर को पकड़ा गया और उन्हें जमीन पर गिरा दिया गया। एक तरह से यह देश के लोकतंत्र का सामूहिक दुष्कर्म है।’

उन्होंने आगे कहा, ‘हमें यह नहीं भूलना चाहिए कि राहुल गांधी इंदिरा गांधी के पोते और राजीव गांधी के बेटे हैं। दोनों ने देश के लिए शहादत दी है। राहुल गांधी के साथ हुए व्यवहार को देश कभी माफ नहीं करेगा। आवाज उठाने के कारण जिस तरह की कार्रवाई राहुल गांधी और अन्य पर की गई वह लोकतंत्र के खिलाफ है।’

Gyan Dairy

बता दें कि राहुल गांधी, प्रियंका गांधी वाड्रा और 200 अन्य के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 188, 269 और 270 एवं महामारी अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया है। राहुल और प्रियंका को गुरुवार को पुलिस ने यमुना एक्सप्रेसवे पर गिरफ्तार कर लिया था। वे कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ हाथरस पीड़िता के परिवार से मिलने के लिए जा रहे थे।

बता दें कि यमुना एक्सप्रेसवे पर कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा था, ‘अभी-अभी पुलिस ने मुझे धक्का दिया, मुझ पर लाठीचार्ज किया गया और मुझे जमीन पर फेंक दिया। मैं पूछना चाहता हूं कि क्या केवल मोदी जी इस देश में चल सकते हैं? एक सामान्य व्यक्ति नहीं चल सकता है? हमारे वाहन को रोक दिया गया, इसलिए हमने चलना शुरू किया।’

Share