संजय राउत ने किया जया बच्चन का समर्थन, कंगना और रवि किशन पर साधा निशाना

सुशांत सिंह राजपूत केस में रिया चक्रवती से पूछताछ शुरू हुई तो ड्रग्स मामला उजागर हुआ, एनसीबी द्वारा पूछताछ के दौरान रिया ने बॉलीवुड के कई कलाकारों का नाम ड्रग्स से जोड़कर बताया है. इसके बाद से ही बॉलीवुड में हड़कंप मचा हुआ है, जहां रवि किशन ने कल संसद में बॉलीवुड ड्रग्स मामले में सही से जांच करवाने की बात कही तो वहीं आज जया बच्चन ने रवि किशन और कंगना पर बॉलीवुड का नाम बदनाम करने का आरोप लगा दिया. अब शिवसेना नेता संजय राउत ने भी जया के बयान पर अपनी प्रतिक्रिया दी है. संजय राउत ने जया बच्चन को समर्थन करते हुए कंगना और रवि किशन पर निशाना साधा और कहा कि कुछ लोगों के कारण इंडस्ट्री की छवि खराब हो रही है.

संजय राउत ने कहा, “कुछ लोग फिल्म इंडस्ट्री का बुरा हाल कर रहे हैं. इससे न केवल इंडस्ट्री बल्कि हमारी संस्कृति-परंपरा भी बदनाम हो रही है. वे कहते हैं कि यहां एक ड्रग्स रैकेट है. क्या यह राजनीति या किसी अन्य क्षेत्र में नहीं है? इसे रोकना सरकार और लोगों की जिम्मेदारी है.”

उन्होने कहा, “यही बात जया बच्चन ने कही है, कि केवल कुछ लोगों के कारण इस इंडस्ट्री को एक खराब प्रतिष्ठा मिल रही है. इंडस्ट्री 5 लाख लोगों को रोजगार प्रदान करता है, अगर कोई इसे खत्म करने की कोशिश कर रहा है, तो उन्हें रोक दिया जाना चाहिए.”

संजय राउत ने कहा कि जया बच्चन ने पूरे देश की भावना को सदन में व्यक्त किया. आज पूरी इंडस्ट्री चुप है. ऐसा माहौल बन गया कि लोग बोलने से भी डरते हैं. इस प्रकार का माहौल आपातकाल में था. अभी भी लोग बोलने से कतरा रहे हैं, लेकिन आपातकाल में भी बहुत से कलाकार सामने आए थे, जैसे कि किशोर कुमार.

Gyan Dairy

संजय राउत ने ड्रग्स मामले में बार-बार महाराष्ट्र का नाम आने पर भी सवाल उठाए. उन्होंने कहा कि ड्रग्स तस्करी को रोकना केंद्र सरकार की भी जिम्मेदारी है. ड्रग्स का पूरा कारोबार रोकने के लिए राष्ट्रीय एजेंसी बनी हैं. केवल महाराष्ट्र का नाम ही हर बार लिया जा रहा है. यूपी, बिहार में भी नेपाल से ड्रग्स आता है.

बता दें कि जया बच्चन ने बॉलीवुड को ड्रग्स से जोड़ने वालों को आज आड़े हाथों लिया था. उन्होंने बिना नाम लिए कंगना और रवि किशन पर निशाना साधा. जया बच्चन ने कहा कि फिल्म इंडस्ट्री को बदनाम करने की साजिश रची जा रही है. जिन लोगों को नाम और शोहरत इंडस्ट्री से मिले आज वहीं इसे गटर बता रहे हैं. साथ ही उन्होंने कहा था कि जिस थाली में खाते हैं उसी में छेद करते हैं.

Share