ट्रंप के ट्विटर खाते के बंद होने से शेयरों में आई भारी गिरावट, कंपनियों के शेयर भी गिरे

वाशिंगटन। अमेरिका में संसद भवन में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के समर्थकों द्वारा कि हिंसा के कारण सोशल मीडिया और दूसरी टेक कंपनियों के शेयरों में काफी गिरावट देखने को मिली। इस घटना के बाद ट्वीटर ने ट्रंप के ट्विटर खाते, जिसके 8.9 करोड़ फॉलोवर हैं,को स्थाई रूप से बंद करने का ऐलान किया। इस घोषणा के बाद ट्विटर के शेयर 6.4 प्रतिशत गिरकर बंद हो गए। ट्विटर ने आशंका जताई थी कि अमेरिकी राष्ट्रपति आगे भी हिंसा भड़का सकते हैं। ट्रंप ने कहा कि वह निकट भविष्य में अपना प्लेटफार्म तैयार करेंगे और चुप नहीं रहेंगे।

टेक कंपनियों और खासतौर से सोशल मीडिया कंपनियों पर यह जोखिम और भी बढ़ रहा है इसके साथ ही पिछले सप्ताह की घटना के बाद अमेरिकी संसद उन पर शिकंजा कस सकती है। कैपिटल बिल्डिंग पर हुए हमले की कुछ चर्चा सोशल मीडिया पर हुई थी और इसकी योजना बनाई गई। ऐसे में ट्विटर और फेसबुक जैसी कंपनियों को दी गई कानूनी सुरक्षा पर नए सिरे से बहस शुरू हो गई है। फेसबुक, जिसने ट्रंप के खाते को 20 जनवरी को और शायद अनिश्चितकाल के लिए निलंबित किया था,उसके शेयर में भी सोमवार को चार प्रतिशत की गिरावट देखने को मिली है।

Gyan Dairy

सैन फ्रांसिस्को में ट्विटर के मुख्यालय के बाहर विरोध हुआ, हालांकि इसे ज्यादा गंभीरता से नहीं लिया गया, क्योंकि अधिकारी और कर्मचारी लगभग एक साल से घर से काम कर रहे हैं। एपल, अमेजन, अल्फाबेट के शेयर भी सोमवार को दो प्रतिशत से अधिक गिरे।

Share