UA-128663252-1

मुंबई में पूर्व नेवी अफसर से शिवसेना कार्यकर्ताओं ने की मारपीट, पूरे देश में आक्रोश

महाराष्ट्र सरकार सुशांत केस के बादल लगातार सवालों के घेरे में है, हाल ही में कंगना रनौत का दफ्तर गिरवाने के मामले में पूरे देश में शिवसेना के खिलाफ आक्रोश है वहीं शुक्रवार को 62 साल के एक रिटायर्ड नौसेना अधिकारी मदन शर्मा के साथ शिवसैनिको द्वारा मारपीट का मामला सामने आने से शिवसेना के खिलाफ जनता में आक्रोश बढ़ गया है। हैरानी की बात ये रही कि मारपीट में गिरफ्तार शिवसेना के 6 कार्यकर्ताओं को 24 घंटे के अंदर ही जमानत मिल गई।

गौरतलब है कि आरोपियों को केस दर्ज होने के 24 घंटे के भीतर ही समता नगर पुलिस स्टेशन से जमानत मिल गई, क्योंकि जिन धाराओं के तहत मुंबई पुलिस ने मामला दर्ज किया था वो जमानती अपराध के अंतर्गत आती हैं।

दरअसल मुंबई पुलिस ने शुक्रवार रात को दो मुख्य आरोपियों – शिवसेना शाखा के प्रमुखों कमलेश कदम और संजय मांजरे को गिरफ्तार किया। पुलिस ने बताया कि भारतीय दंड संहिता की धारा 325 और दंगे से संबंधित प्रावधानों के तहत छह लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है, लेकिन अब 6 आरोपियों को जमानत मिल गई है।

Gyan Dairy

पुलिस के अनुसार यह घटना शुक्रवार सुबह करीब 11.30 बजे उपनगर कांदिवली के लोखंडवाला कॉम्प्लेक्स इलाके में हुई। उनके मुताबिक, ‘‘सेवानिवृत्त नौसेना अधिकारी मदन शर्मा ने एक व्हाट्सऐप ग्रुप में शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे पर एक कार्टून भेजा था। इसी बात पर नाराज होकर कुछ शिवसेना कार्यकर्ता उनके घर गए और उनके साथ मारपीट की। शर्मा की आंख में चोट लग गई और अस्पताल में उनका इलाज किया जा रहा है।’’

पूर्व सैनिक के बेटे सनी ने बताया कि ‘शिवसेना के गुंडों’ ने उसके पिता को बेरहमी से पीटा है। उसने बताया कि इस समय पिता की स्थिति में सुधार हो रहा है लेकिन डॉक्टरों का कहना है अंदरूनी जख्मों को ठीक होने में एक से दो महीने का समय लग जाएगा। वहीं बेटी ने बताया कि किस तरह से एक व्हाट्सएप मैसेज के कारण उनके पिता पर हमला किया गया। उसने इस बात का भी उल्लेख किया कि उसके पिता द्वारा एक कार्टून फॉरवर्ड करने के बाद उन्हें 10-15 धमकी भरे कॉल किए गए। बेटी ने बताया कि पिता को बिना कोई हंगामा किए बेरहमी से पीटा गया। जबकि घटना के एक घंटे बाद पुलिसकर्मी कथित तौर पर मदन शर्मा को गिरफ्तार करने उसके घर पहुंच गयी।

Share