हाथरस केस की पीड़िता के घर आज फिर पहुंची एसआईटी, डीएम पर हो सकती है कार्रवाई

हाथरस। हाथरस केस की पीड़िता के घर रविवार को फिर एसआईटी टीम पहुंच गयी है। एसआईटी पीड़ित परिवार का बयान दर्ज कर रही हैै। इस मामले में पीड़िता की मां और दो भाइयों के बयान लिए जा चुके हैं और कुछ सदस्यों का बयान लिया जाना बाकी है। एसआईटी की टीम के साथ एक एंबुलेंस भी गांव में पहुंची हैं।

इससे पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एसआईटी को निर्देश दिया था कि वह हाथरस केस की प्राथमिक जांच सात दिन में पूरी करे। एसआईटी की टीम सभी पहलू पर जांच कर रही है। वहीं एसआईटी आज अपनी दूसरी रिपोर्ट शासन को पेश करेगी। सूत्रों के मुताबिक रिपोर्ट शासन को पहुंचने के बाद जिलाधिकारी हाथरस पर कार्रवाई हो सकती है।

एसआईटी की जांच के बाद गिरी थी इन पर गाज
एसआईटी की ही प्राथमिक जांच रिपोर्ट के आधार पर हाथरस के एसपी विक्रांत वीर सिंह, क्षेत्राधिकारी (CO) राम शब्द, इंस्पेक्टर दिनेश कुमार वर्मा, सब इंस्पेक्टर जगवीर सिंह और हेड मोहर्रिर महेश पाल को निलंबित कर दिया गया था। अब हाथरस के एसपी विनीत जायसवाल बनाए गए हैं।

Gyan Dairy

सीएम ने की सीबीआई जांच की सिफारिश
अब हाथरस कांड की जांच सीबीआई के हवाले करने की तैयारी है। योगी सरकार ने केंद्र सरकार से इस बात की सिफारिश की है लेकिन पीड़ित परुवार सीबीआई जांच की सिफारिश संतुष्ट नजर नहीं आया। पीड़ित परिवार का कहना है कि उन्होंने सीबीआई जांच की मांग नहीं की थी। उनकी मांग है कि पूरे प्रकरण की जांच सुप्रीम कोर्ट के जज से करवाई जाए।

 

Share