UA-128663252-1

अयोध्या में श्रीराम मंदिर की नींव की खोदाई का काम शुरू

नई दिल्ली। रामनगरी में श्रीराम जन्मभूमि मंदिर के निर्माण के लिए टेस्ट पाइलिंग का काम शुरू हो गया है। इसके तहत श्रीराम जन्मभूमि मंदिर के लिए एक पिलर का निर्माण होगा। श्रीराम मंदिर के एक पिलर का निर्माण 24 घंटे में हो जाएगा। एक पिलर का निर्माण कर उसकी गुणवक्ता और भार क्षमता का परीक्षण किया जाएगा। परीक्षण में एक माह का समय लगेगा। परीक्षण के बाद 1199 अन्य पिलर्स का काम 15 अक्टूबर के बाद शुरू होगा। बुनियाद की खुदाई का काम शुरू होने से पहले मशीनों की पूजा की गई।

श्रीराम मंदिर निर्माण के लिए बेस का मजबूत होना जरूरी है। 12 सौ खंभों पर श्रीराम मंदिर का निर्माण होगा। रिंग मशीन के माध्यम से आज पहली खुदाई की गई है। आपको बता दें कि नींव की 1200 पायलिंग में पहले एक पाइल (कुएं के आकार का पिलर) फाउंडेशन बनाकर 15 अक्तूबर तक टेस्टिंग का लक्ष्य है। दरअसल मंगलवार को श्रीराममंदिर निर्माण समिति के अध्यक्ष सेवानिवृत्त आईएएस नृपेंद्र मिश्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय व एलएंडटी के परियोजना प्रबंधक वृजेश कुमार सिंह की टीम के साथ बैठक की थी।

Gyan Dairy

उन्होंने बताया था कि 60 मीटर (200 फीट) गहराई तक श्रीराममंदिर का पायलिंग फाउंडेशन होगा। 1200 पाइलिंग सीमेंट, मोरंग और गिट्टी से तैयार होगी। यह समुद्र या नदी में पुल के फाउंडेशन जैसा होगा, लेकिन इसमें स्टील का प्रयोग नहीं होगा।

Share