आज का राशिफल, जानिए 25 अप्रैल का दिन आपके लिए कैसा रहेगा

आज धनु राशि के जातकों की बल्ले बल्ले, जानें कैसा रहेगा आपका दिन

मेष-बहुत बढि़या हो गया है। हर दृष्टिकोण से उत्‍तम है फिर भी लग्‍नेश कमजोर है इसलिए स्‍वास्‍थ्‍य पर कोई रिस्‍क न लें। धनागमन के संकेत हैं। प्रेम की स्थिति भी काफी करीब आ रही है। लाल वस्‍तु पास रखें।

वृषभ-मानसिक और शारीरिक चंचलता पर काबू रखें। बाकी सब अच्‍छा है। चाहे वो प्रेम हो या व्‍यवसाय। मां काली का स्‍मरण करें।

मिथुन-सुधार हो रहा है। लग्‍नेश आपका एकादश भाव में पूरा आशीर्वाद दे रहा है। स्‍वास्‍थ्‍य, प्रेम में सुधार हो रहा है। व्‍यवसाय की भी स्थिति धीरे-धीरे अच्‍छी हो जाएगी। गणेश जी की वंदना करें।

कर्क-स्‍वास्‍थ्‍य में सुधार सम्‍भव है। लेकिन मानसिक, प्रेम, व्‍यवसायिक तौर पर अभी आपका मध्‍यम समय है। बस हनुमान जी की पूजा करते रहें, घर पर ही। सब ठीक होगा।

सिंह-थोड़ा सुधार जरूर है। मन में, धन में, स्‍वास्‍थ्‍य में ठीक है। सूर्यदेव को जल दें।

कन्‍या-स्‍वास्‍थ्‍य में सुधार है। बुध उच्‍च के हो गए हैं। प्रेम की स्थिति भी धीरे-धीरे अच्‍छे की ओर जाएगी। व्‍यवसायिक सुधार भी बहुत जल्‍दी होने वाला है। गणेश जी की वंदना करते रहें।

Gyan Dairy

तुला-किसी प्रकार का कोई रिस्‍क न लें। स्‍वास्‍थ्‍य , प्रेम, व्‍यापार सब मध्‍यम चल रहा है। मां काली का स्‍मरण करना आपके लिए अच्‍छा रहेगा।

वृश्चिक-सुधार हो रहा है। सरकार, व्‍यवसाय की ओर से अच्‍छा आश्‍वासन मिल सकता है। स्‍वास्‍थ्‍य पर विशेष ध्‍यान दें। हनुमान जी की वंदना करना आपके लिए अच्‍छा रहेगा।

धनु-शत्रुओं पर विजय पाएंगे। किसी बुजुर्ग का आशीर्वाद प्राप्‍त होगा। लेकिन स्‍वास्‍थ्‍य पर बहुत ध्‍यान देने की जरूरत है। अभी लग्‍नेश नीच के चल रहे हैं। पीली वस्‍तु पास रखें। हनुमान जी को मानसिक तौर पर प्रणाम करें।

मकर-मानसिक तौर पर सकारात्‍मक होंगे लेकिन अक्रामकता में कोई महत्‍वपूर्ण निर्णय न लें। सोच-समझकर निर्णय लें। बच्‍चों की सेहत पर ध्‍यान रखें। मां काली का स्‍मरण करें, वंदन करें।

कुंभ-भूमि,भवन,वाहन की खरीदारी के विचार बन रहे हैं। घर में कुछ सकारात्‍मक उर्जा का संचार होगा। मां के स्‍वास्‍थ्‍य में सुधार होगा। गणेश जी की वंदना करें। अच्‍छा होगा।

मीन-स्थिति थोड़ी सुधार में है। स्‍वास्‍थ्‍य पर थोड़ा ध्‍यान दें। व्‍यवसाय और प्रेम की स्थितियां बहुत जल्‍द आपके पक्ष में आएंगी। सूर्यदेव को जल दें।

Share