रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाता है उत्तानासन, जानें लाभ

नई दिल्ली। हमारे प्राचीन ग्रंधों में उल्लखित योगासन शरीर को नसिर्फ स्वस्थ्य रखते हैं, बल्कि मानसिक रूप से शांति भी प्रदान करते हैं। आज हम आपको उत्तानासन के बारे में बताएंगे। उत्तानासन से हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में मदद मिलती है। इस योगासन को करने से पूरे शरीर में रक्त का प्रवाह ठीक तरह से होता है। इसका सकारात्मक प्रभाव इम्यून सेल्स पर पड़ता है। इस कारण उत्तानासन योगासन इम्यून सिस्टम को मजबूत करने में लाभदायक माना जाता है।

उत्तानासन हमारे शरीर के कई हिस्सों को एक साथ प्रभावित करता है। ये मस्तिष्क को शांत करता है, साथ ही तनाव और हल्के डिप्रेशन में राहत देने में मदद करता है। इसके साथ ही जिगर और गुर्दों के बेहतर कार्य पद्धति में मदद करता है। उत्तानासन हैमस्ट्रिंग, पिंडली, और कूल्हों में ज़रूरी खिचाव पैदा करता है। इसके अलावा जांघों और घुटनों को मज़बूत करता है और पाचन में सुधार लाता है।

Gyan Dairy

ऐसे करें उत्तानासन का अभ्यास
सबसे पहले किसी समतल स्थान पर योग मैट बिछा लें। अब इस पर खड़े हो जाएं और पैरों के बीच में एक फीट की दूरी रखें। अब अपने पैरों को सीधा रखें और एक गहरी सांस लेते हुए हाथों को नीचे की ओर ले आएं। ध्यान रहे कि आपके पैर घुटने से न मुड़ें। इसी अवस्था को बरकरार रखते हुए अपने हाथों से पैरों के अंगूठे को छूने की कोशिश करें। जब आप यहां तक की प्रक्रिया को अच्छे से करने लगें तो उसके बाद अपने हाथों को पीछे की ओर ले जाएं। अब एड़ी के ऊपरी हिस्से को (चित्रानुसार) पकड़ने की कोशिश करें। थोड़ी देर इसी मुद्रा में रहें और फिर वापस सामान्य मुद्रा में आ जाएं। अब इसी चक्र को तीन-चार बार दोहराएं।

Share