blog

सीएए के विरोध में हिंसा: जाफराबाद से लेकर भजनपुरा तक हुआ उपद्रव, पुलिस पर पेट्रोल बम से हमला

सीएए के विरोध में हिंसा: जाफराबाद से लेकर भजनपुरा तक हुआ उपद्रव, पुलिस पर पेट्रोल बम से हमला
Spread the love

नई दिल्ली। नागरिकता संशोधन कानून को लेकर चल रहा उपद्रव कम होने का नाम नहीं ले रहा है। सोमवार को दिल्ली की जाफराबाद इलाके से फैली हिंसा शाम तक भजनपुरा तक पहुंच गयी। इस दौरान उपद्रवियों ने जमकर बवाल किया। पुलिस ने उन्हें रोकने की कोशिश की तो उन पर फायरिंग की गयी। यही नहीं पुलिसकर्मियों पर पेट्रोल बम से हमला किया गया। पथराव में शाहदरा जिले के डीसीपी अमित शर्मा समेत एक दर्जन से अधिक पुलिसकर्मी और करीब 30 से ज्यादा लोग घायल हो गए।

उपद्रवियों ने जाफराबाद-मौजपुर के पास सुबह एक धार्मिक स्थल में आग लगाने की कोशिश की, लेकिन वहां मौजूद लोगों ने आग बुझा दी। नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) को लेकर दो दिन पहले लोगों ने जाफराबाद के मेट्रो स्टेशन के पास प्रदर्शन शुरू किया था। पुलिस के विरोध करने पर लोग हिंसक हो गए थे और दोनों पक्षों में हिंसक झड़प हो गई थी।

इसका असर सोमवार को मौजपुर होते हुए उत्तर पूर्वी दिल्ली के भजनपुरा इलाके तक पहुंच गया। दोपहर करीब तीन बजे भीड़ अचानक से एक पेट्रोल पंप पर पहुंच गई और उसे आग के हवाले कर दिया। इस दौरान दोनों गुटों के लोग आमने-सामने आ गए। दोनों तरफ से पथराव शुरू हो गया। पुलिस ने पंप से भीड़ को खदेडऩे का प्रयास किया तो भीड़ की तरफ से पुलिस पर पेट्रोल बम से हमला कर दिया गया और इस दौरान उपद्रवियों ने एक दूसरे पर गोली भी चलाई।

हिंसा में कई पुलिसवाले घायल हो गए। भीड़ ज्यादा होने से पुलिस एक बार फिर पीछे हटी, लेकिन दोबारा पुलिस ने लोगो को खदेड़ना शुरू किया। इस दौरान हुए पत्थरबाजी में शाहदरा के डीसीपी अमित शर्मा घायल हो गए और उनकी गाड़ी क्षतिग्रस्त हो गई। डीसीपी समेत अन्य घायल पुलिस कर्मियों को अस्पताल पहुंचाया गया। इस दौरान उपद्रवियों की भीड़ ने चांदबाग चौक पर स्थित एक धार्मिक स्थल को आग के हवाले कर दिया। पुलिस ने उपद्रवियों को खदेड़ा तो कई मकानोँ, दुकानों और दर्जनों गाड़ियों में आग लगा दी। पुलिस बल ने मोर्चा संभाला और आंसू गैस के गोले छोड़ कर लोगों को तितर बितर कर दिया लेकिन एक दूरी बनाकर दोनों पक्ष एक दूसरे पर पथराव करते रहे।

You might also like