भ्रष्टाचार पर योगी सरकार का बड़ा ऐक्शन, प्रयागराज के SSP सस्पेंड

लखनऊ। भ्रष्टाचार के खिलाफ योगी सरकार काफी शख्त दिख रही है, हाल ही में प्रयागराज में भ्रष्टाचार के कई मामले उजागर हुए और कानून व्यवस्था पर भी सवाल उठने लगे थे. इसे देखते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रयागराज के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को तत्काल प्रभाव से सस्पेंड कर दिया है. उन पर अपराध नियंत्रण, कानून-व्यवस्था में शिथिलता व भ्रष्टाचार आदि के गंभीर आरोप हैं.

गृह विभाग की तरफ से जारी किए गये आदेश में बताया गया कि अभिषेक दीक्षित द्वारा प्रयागराज SSP के रूप में तैनाती की अवधि में अनियमितताएं बरतने और शासन के निर्देशों का अनुपालन सही ढंग से नहीं किए जाने का आरोप है. उन पर पोस्टिंग में भ्रष्टाचार को बढ़ावा देने का भी गंभीर आरोप है.

अभिषेक दीक्षित प्रयागराज में अपराध नियंत्रण और कानून व्यवस्था बनाए रखने में भी फेल साबित हुए. शासन एवं मुख्यालय के निर्देशों के अनुरूप नियमित रूप से फूट पेट्रोलिंग किए जाने और बैंकों तथा आर्थिक व्यवसायिक प्रतिष्ठानों की सुरक्षा में अपेक्षित कार्रवाई नहीं की गई. साथ ही बाइकर्स गैंग की बढ़ती घटनाओं की रोकथाम में भी SSP की कार्रवाई ना के बराबर रही. जिले में चेकिंग व पर्यवेक्षण का काम भी सही ढंग से नहीं किया गया. प्रयागराज में पिछले 3 माह में लंबित विवेचनाओं में भी निरंतर वृद्धि हुई.

Gyan Dairy

कोरोना महामारी के संबंध में भी शासन/मुख्यालय द्वारा सोशल डिस्टेसिंग का पालन कराए जाने हेतु दिए गए निर्देशों का जनपद में सही ढंग से पालन नहीं कराया गया, जिस पर हाईकोर्ट द्वारा भी नाराजगी व्यक्त की गई. गृह विभाग के प्रवक्ता ने बताया कि निलंबन की अवधि के दौरान अभिषेक दीक्षित, पुलिस महानिदेशक कार्यालय से सम्बद्ध रहेंगे.

Share