Bajaj ने इस देश में बेचनी शुरू की दुनिया की सबसे सस्ती मिनी कार…

भारतीय ऑटोमोबाइल कंपनी बजाज ने दुनिया की सबसे सस्ती मिनी कार रूस में लॉन्च कर दी है। बजाज की इस कार का ‘क्वाड्रिसाइकिल बजाज क्यूट’ नाम दिया गया है। हालांकि भारत और दुनिया के अन्य कुछ देशों में इसे Bajaj RE60 नाम से जाना जाता है। भारत में वैसे तो 1।25 लाख रुपए कीमत वाली टाटा नैनो को सबसे सस्ती कार का का दर्जा हासिल है लेकिन मिनी कैटेगरी में बजाज की इस कार को सबसे सस्ता माना जा सकता है। रूस से पहले इस कार की बिक्री तुर्की में शुरू हो चुकी है हालांकि वहां इस कार की कीमत रूस के मुकाबले ज्यादा रखी गई है.

piyaks

रूस में बजाज की इस कार की डिस्ट्रीब्यूटर कंपनी ‘ईस्ट-वैस्ट मोटर्स’ के कमर्शियल डायरेक्टर येकतिरीना लगाचोवा के मुताबिक रूस में यह मिनी कार या क्वाड्रिसाइकिल अपने मूल रूप में तीन लाख तीस हज़ार रूबल की पड़ेगी यानी भारतीय रुपयों में इसकी क़ीमत रूस में 3 लाख 52 हज़ार 490 रुपए 25 पैसे होगी। इस क़ीमत में कार अपने मूल रूप में होगी। लेकिन कार में एयरकण्डीशन, ड्राइवर के दरवाज़े का ताला और साइड में शीशे लगाने के बाद इस कार की क़ीमत 3 लाख 60 हज़ार रूबल पड़ेगी। रूस में कार डीलर्स को इस मिनी कार की पहली खेप भी मिल गई है।

Gyan Dairy

बता दें कि साल 2012 में दुपहिया गाड़ी बनाने वाली भारत की दूसरी सबसे बड़ी कंपनी बजाज ऑटो ने टाटा की नैनो को टक्कर देने के लिए लो-एमिशन (कम उत्सर्जन) कार आरई 60 लॉन्च की थी। गौरतलब है कि इसे ‘दुनिया की सबसे सस्ती कार’ बताने के बजाज के दावे पर भी सवाल उठने शुरू हो गए हैं। बजाज ने इस कार का नाम ही क्वाड्रिसाइकिल रखा है, जो कार की श्रेणी में नहीं आती।

जानकारों के मुताबिक इसे मिनी-कार कहना या इसकी क़ीमत शुरू में सिर्फ़ 2 हज़ार डॉलर बताना दरअसल इसका विज्ञापन करने का तरीका था। भारत में अभी तक इस क्वाड्रिसाइकिल को सड़कों पर चलाने का प्रमाणपत्र नहीं मिला है, इसलिए इसकी बिक्री भी भारत में शुरू नहीं हुई है। विदेशों में यह कार क़रीब-क़रीब दुगुनी क़ीमत की पड़ रही है। तुर्की में बजाज क्यूट की बिक्री सबसे पहले शुरू हुई थी और वहां इस क्वाड्रिसाइकिल की क़ीमत भारतीय रुपए में करेब 3 लाख 84 हज़ार है।

Share