GDP की रफ़्तार भले कायम हो लेकिन नौकरी देने वाले सेक्टरों की क्रेडिट ग्रोथ नेगेटिव

रिजर्व बैंक ऑफ़ इंडिया ने अपने ताजा आंकड़ों में कहा है कि टेक्सटाइल, लेदर, जेम्स एंड ज्वैलरी, फूड प्रोसेसिंग, इन्फ्रास्ट्रक्चर और इंजीनियरिंग सेक्टर द्वारा बैंकों से कर्ज लेने की डिमांड नेगेटिव हो गई है।

क्रेडिट ग्रोथ नेगेटिव होने का सीधा मतलब है कि कारोबारी कर्ज नही ले रहे हैं और सात ही कंपनियां अपने बिजनेस को लेकर सतर्क हो रही हैं। इसी वजह से इन सेक्टरों से कर्ज के डिमांड कम हो गई है। इन सब बातों का सीधा मतलब है कि जब ये सेक्टर कारोबार में आगे नही बढ़ रहे हैं तो इसका सीधा असर नौकरियों पर पड़ेगा।

Gyan Dairy

गौरतलब है कि साल 2014 के चुनाव में वादा किया गया था कि देश में 2 करोड़ रोजगार दिए जायेंगे लेकिन इस स्थित को देखते हुए यह बेहद मुश्किल लग रहा है।

Share