सोने के दाम में आयी भारी गिरावट, 12000 रुपये हुआ सस्‍ता

नई दिल्‍ली: कोरोना संकट के बाद सोने के दाम अचानक काफी ज्यादा बढ़ गये थे लेकिन जल्‍द ही देश में शादियों का सीजन शुरू होने वाले हैं। ऐसे में लोगों के लिए बड़ी खुशखबरी सामने आई है। सोने के दामों में शुक्रवार को भी गिरावट जारी रही। मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज (MCX) पर सोना वायदा 230 रुपये की गिरावट के साथ 44,311 रुपये प्रति 10 ग्राम पर आ गया है। इससे पहले आज ही सोने के दाम 44,217 रुपये के स्तर तक पहुंच गए थे।

इस बीच, एमसीएक्स पर चांदी वायदा 0.82% या 476 रुपये गिरकर 65,445 रुपये प्रति किलोग्राम पर आ गई। विश्लेषकों का कहना है कि उच्च बांड पैदावार पर अमेरिकी डॉलर में बढ़ोतरी और दुनिया की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था में तेजी की संभावना है, जो बुलियन बाजार में भावनाओं पर आधारित है। ईटीएफ के लगातार बढ़ने से पीली धातु पर भी असर पड़ा।

अंतरराष्ट्रीय बाजार में सोने की कीमतों में गुरुवार को 1.12% की गिरावट के साथ 1,697 डॉलर प्रति औंस पर बंद हुआ। अब तक, हाजिर सोना हाजिर 1,694.65 डॉलर प्रति औंस पर कारोबार करता था। हालांकि, विश्लेषकों का मानना है कि पीली धातु की समग्र प्रवृत्ति अभी भी तेज है और सोने के मौजूदा स्तर को बनाए रखने की संभावना नहीं है।

Gyan Dairy

हितेश जैन, लीड एनालिस्ट (इंस्टीट्यूशनल इक्विटीज), यस सिक्युरिटीज, ने कहा कि बाजार और केंद्रीय बैंकों के बीच एक व्यापक विभाजन है, जिसमें बाजार उच्च मुद्रास्फीति और वृद्धि का मूल्य निर्धारण कर रहे हैं, जबकि केंद्रीय बैंक समायोजन और काम कर रहे हैं। हाल ही में बढ़ती संप्रभु पैदावार के मद्देनजर सोने की कीमतों में गिरावट आई है। हमें नहीं लगता है कि पैदावार में लगातार वृद्धि होगी।

उन्होंने कहा कि केंद्रीय बैंक अंततः अपनी संपत्ति खरीद के साथ पैदावार पर लगाम लगाएंगे और उधार की लागत कम रखने में अपनी संबंधित सरकारों की मदद भी करेंगे।

Share