एचडीएफसी बैंक ने घटाया होम लोन पर ब्याज, अब कम होगी किस्त

निजी क्षेत्र के एचडीएफसी बैंक ने कोष की सीमांत लागत आधारित ब्याज दर (एमसीएलआर) 0.05 प्रतिशत कम की है। यह कटौती हर अवधि की एमसीएलआर पर की गई है। बैंक की वेबसाइट के अनुसार नई दरें आठ जून से प्रभावी हैं। एमसीएलआर दर से जुड़े होम लोन की समान मासिक किस्त की राशि में कमी आएगी। एचडीएफसी बैंक के अनुसार एक दिन के लिए एमसीएलआर को कम कर 7.30 प्रतिशत जबकि एक महीने की अवधि के लिए 7.35 प्रतिशत किया गया है। एक साल की एमसीएलआर अब 7.65 प्रतिशत होगी। ज्यादातर उपभोक्ता कर्ज इसी से जुड़े होते हैं। वहीं तीन साल की एमसीएलआर अब 7.85 प्रतिशत होगी।

रिजर्व बैंक के नीतिगत दर में कटौती के बाद अन्य बैंकों के एमसीएलआर में कटौती के बीच एचडीएफसी ने यह कदम उठाया है। कोविड-19 महामारी और ‘लॉकडाउन से अर्थव्यवस्था को उबारने और उसे पटरी पर लाने के लिए आरबीआई मार्च से अबतक प्रमुख नीतिगत दर (रेपो) में 1.15 प्रतिशत की कटौती कर चुका है। बैंक हर महीने अपनी एमसीएलआर की समीक्षा करते हैं।

जनता से जमा पूंजी आकर्षित करने के लिए लघु कर्जदाता बैंक इक्विटास स्माल फाइनेंस बैंक ने मंगलवार को कहा कि उसने बचत खाते में एक लाख से लेकर पांच करोड़ रुपये तक की जमा पर बयाज दर को मौजूदा 5.5 प्रतिशत से बढ़ाकर 7 प्रतिशत कर दिया है। बैंक ने एक विज्ञप्ति में कहा है कि नई दरें बुधवार से लागू होंगी।

Gyan Dairy

बैंक के अध्यक्ष और कंट्री प्रमुख (शाखा बैंकिंग, देनदारी, उत्पाद एवं संपत्ति) मुरली वैद्यनाथन ने कहा, ”हम एक लाख से लेकर पांच करोड़ रुपये तक की बचत जमा पर ग्राहक को 7 प्रतिशत सालाना दर से ब्याज की पेशकश कर रहे हैं। हमारा मानना है कि इससे बैंक के मौजूदा ग्राहकों और नए बचत खाता धारकों को बेहतर ब्याज दर के साथ अधिक जमा का अवसर उपलब्ध होगा। बैंक के बचत खाते में जमा की दो श्रेणियां हैं। पहली एक लाख रुपये और उससे ऊपर और दूसरी एक लाख रुपये तक की जमा पर बैंक ने ब्याज दर को 3.5 प्रतिशत पर यथावत रखा है। बैंक के पास करीब छह लाख बचत खाते हैं।

Share