Jio के ग्राहकों को मिलेगा फायदा, निवेश करने वालों की लगी है लाइन

नई दिल्ली। जबसे फेसबुक ने जियो के साथ पार्टनरशिप हुई है तभी से मुकेश अंबानी की रिलायंस जिओ में निवेश करने वालों की लंबी लाइन दिखाई दे रही है। रिलायंस में जहां अबुधावी के सरकारी वित्तीय संस्थान ने जिओ में 1 बिलियन अमेरिकी डॉलर निवेश करने का आग्रह किया है तो वहीं माइक्रोसॉफ्ट ने 2 अरब डालर निवेश करने की तैयारी कर रखी है। रिलायंस की जिओ में इतनी भारी मात्रा में बाहरी निवेश से न केवल जिओ मजबूत हो रही है बल्कि इससे जिओ के ग्राहकों को भारी लाभ के संकेत मिल रहे हैं। ऐसा बताया जा रहा है कि लॉक डाउन के दौरान जिओ में इस तरह बाहरी निवेश आने के बाद सब्सक्राइबर्स के लिए और बेहतर सुविधाएं मिलने की संभावनाए बन रही हैं। ध्यान रहे, रिलायंस जिओ को इन दोनों निवेश के अतिरिक्त अबतक 10 अरब डॉलर का बाहरी निवेश मिल चुका है।

विभिन्न स्रोतों से मिली जानकारी के अनुसार, “डिजिटल पेमेंट सर्विस सेक्टर में निवेश के लिए माइक्रोसॉफ्ट कई कंपनियों से बात कर रही है। रिलायंस में माइक्रोसॉफ्ट जियो प्लेटफॉर्म्स में 2.5 फीसदी हिस्सेदारी खरीद सकता है। अगर दोनों कंपनियों के बीच यह डील होती है तो दुनिया की सबसे वैल्यूएबल कंपनी माइक्रोसॉफ्ट को जियो प्लेटफॉर्म्स में भी हिस्सेदारी मिल जाएगी। पिछले एक महीने में जियो प्लेटफॉर्म्स को पहले ही 10 अरब डॉलर का निवेश हासिल हो चुका है। इसमें स्टेक लेने वाली कंपनियों में फेसबुक, केकेआर एंड कंपनी, सिल्वर लेक, विस्टा इक्विटी पार्टनर्स और जनरल अटलांटिक हैं।

इस साल फरवरी में माइक्रोसॉफ्ट के चीफ एग्जीक्यूटिव सत्या नाडेला ने कहा था कि कंपनी ने रिलायंस जियो के साथ साझेदारी की है। इसके तहत रिलायंस जियो की योजना माइक्रोसॉफ्ट के अजूर क्लाउड (Azures cloud) सर्विस का इस्तेमाल करते हुए देशभर में अपने क्लाइंट्स के लिए डाटा सेंटर बनाने की है। जियो प्लेटफॉर्म्स में एक के बाद एक विदेश कंपनियां निवेश कर रही हैं। कंपनी ने आखिरी निवेश 22 मई को केकेआर ने किया था। केकेआर ने जियो प्लेटफॉर्म्स में 2.32 फीसदी हिस्सेदारी 11,367 करोड़ रुपए में खरीदी थी। एशिया में यह केकेआर का सबसे बड़ा निवेश है। इस डील के साथ ही जियो प्लेटफॉर्म्स की वैल्यूएशन 4.91 लाख करोड़ रुपए हो गई है।

Gyan Dairy

इससे पहल अप्रैल में फेसबुक ने ऐलान किया था कि वह जियो प्लेटफॉर्म्स में 9.99 फीसदी हिस्सेदारी 5.7 अरब डॉलर में लेगी। इसके बाद सिल्वर लेक ने 75 करोड़ डॉलर निवेश किया। फिर विस्टा इक्विटी ने जियो प्लेटफॉर्म्स में 1.5 अरब डॉलर निवेश किया। 17 मई को जनरल अटलांटिक ने 87 करोड़ डॉलर जियो प्लेटफॉर्म्स में निवेश करने का ऐलान किया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share