जानें Gold पर निवेश करना कब होगा सही, कितना करना होगा इंतजार

कोरोना काल में लगातार तेजी दिखाने के बाद सोने-चांदी (Gold) की कीमतों में इस हफ्ते भारी गिरावट आई है। बीते हफ्ते 10 ग्राम सोने का दाम 56 हजार रुपये के शिखर पर पहुंचने के बाद इस हफ्ते धराशायी होता नजर आया। 7 अगस्त की कीमत से अगर तुलना की जाए तो 10 से 14 अगस्त के बीच सोने के भाव 3,252 रुपये गिरे हैं। वहीं, एक किलो चांदी का रेट 75,013 रुपये के पीक पर पहुंचने के बाद इस हफ्ते 7,245 रुपये गिरी है। अगर एक्सपर्ट की माने तो 10 ग्राम सोने का भाव 50,000 रुपये के नीचे और एक किलो चांदी का भाव 60,000 रुपये के नीचे आ सकता है क्योंकि अंतर्राष्ट्रीय बाजार में भी सोने के दाम गिर रहे हैं। विशेषज्ञों का कहना है कि रूस द्वारा कोरोना वैक्सीन लाने की खबर से शेयर बाजार में विश्वास बढ़ा है। इससे सोने-चांदी में मुनाफावसूली हुई है जिससे कीमतें तेजी से नीचे आई हैं।

7 अगस्त के पीक भाव से लेकर इस हफ्ते ये रहे सोने और चांदी के दाम

तारीख सोने का रेट (रुपये/10 ग्राम) चांदी का रेट (रुपये/ किलो ग्राम)
14 अगस्त 2020 52874 67768
13 अगस्त 2020 52701 67439
12 अगस्त 2020 52626 65749
11 अगस्त 2020 53951 71211
10 अगस्त 2020 55515 73608
7 अगस्त 2020 56126 75013
अंतरराष्ट्रीय बाजार में भी फीकी पड़ी चमक
अंतरराष्ट्रीय बाजार में भी सोने के कीमतों में गिरावट जारी है अंतरराष्ट्रीय बाजार में अमेरिकी वायदा सोने की कीमत 2.8% गिरकर 1,892 डॉलर प्रति औंस रह गई है। चांदी का भाव 23.96 डॉलर प्रति औंस रहा। विशेषज्ञों का कहना है कि आने वाले दिनों में वैश्विक बाजार में सोना एक बार फिर से 1700 डॉलर प्रति औंस के स्तर को छू सकता है।

इस वजह से आई गिरावट
विशेषज्ञों का कहना है कि सोने की कीमत में बड़ी गिरावट की वजह है रूस द्वारा कोरोना वैक्सीन लाने की घोषणा करना। इसके साथ ही डॉलर सूचकांक में मजबूती लौटी है। सोने-चांदी की कीमतों में कमी आने की एक वजह अमेरिका सहित भारत में एक और आर्थिक पैकेज की चर्चा भी है। इससे सोने चांदी की कीमतों पर दबाव बढ़ा है। दुनियाभर के शेयर बाजारों पर निवेशकों का भरोसा बढ़ा है, जिससे सोने और चांदी की तरफ उनका झुकाव कम हुआ है।

Gyan Dairy

सोने-चांदी में निवेश से बचे निवेशक
विशेषज्ञों का कहना है कि निवेशकों को अभी सोने में फिलहाल खरीदारी से बचना चाहिए। सोने में लगातार तेजी के बाद अब बिकवाली देखने को मिल सकती है। सोने का भाव वापस 50,000 रुपये प्रति दस ग्राम से नीचे जा सकता है। वहीं चांदी के भाव 60,000 रुपये तक फिर से पहुंच सकते हैं। ऐसे में सोने या चांदी में खरीदारी की योजना बना रहे हैं निवेशकों को फिलहाल इंतजार करना फायदेमंद होगा।

क्या अभी निवेश करना है सही?
जेपी मॉर्गन की एक रिपोर्ट के मुताबिक अगले दो साल में सोना 70 हजार रुपये के पार पहुंच सकता है। विशेषज्ञों का कहना है कि कोरोना संकट खत्म होने के बाद भी दुनिया का आर्थिक संकट तुरंत खत्म होने वाला नहीं है। ऐसे में अर्थव्यवस्था में उथल-पुथल के बीच सोने की मांग में आगे भी तेजी बनी रहने की उम्मीद है।50,000 के नीचे आएगा सोने का भाव? जानें अब निवेश करना होगा सही या करें इंतजार

Share