blog

शेयर बाजार: अनलॉक के पहले चरण में सेंसेक्‍स और निफ्टी ने पकड़ ली रफ्तार

शेयर बाजार: अनलॉक के पहले चरण में सेंसेक्‍स और निफ्टी ने पकड़ ली रफ्तार
Spread the love

मंगलवार को सेंसेक्स 522 अंक बढ़त के साथ 33,825 पर थावहीं, निफ्टी 153 अंक की बढ़त के साथ 9,979 पर बंद हुआ। भारतीय शेयर बाजार अब धीरे-धीरे लॉकडाउन के दबाव से बाहर निकलता दिख रहा है. यही वजह है कि अनलॉक के पहले चरण में सेंसेक्‍स और निफ्टी ने रफ्तार पकड़ ली है. दरअसल, देश के शेयर बाजारों में लगातार छठे कारोबारी दिन तेजी का रुख जारी रहा. वैश्विक बाजारों के सकारात्मक संकेतों के बीच सेंसेक्‍स 284.01 अंक यानी 0.84 प्रतिशत बढ़कर 34,109.54 अंक पर बंद हुआ.

निफ्टी 10 हजार अंक के पार

निफ्टी सूचकांक भी 82.45 अंक यानी 0.83 प्रतिशत उछलकर 10,061.55 अंक पर पहुंच गया. सूचकांक में शामिल शेयरों में महिन्द्रा एण्ड महिन्द्रा में सर्वाधिक 5 प्रतिशत की बढ़त दर्ज की गई. इसके बाद कोटक महिन्द्रा बैंक, बजाज फाइनेंस, नेस्ले इंडिया, स्टेट बैंक, आईसीआईसीआई बैंक, एचडीएफसी बैंक और ओएनजीसी के शेयरों में बढ़त दर्ज की गई. इसके उलट, एनटीपीसी, इंडसइंड बैंक, भारतीय एयरटेल और मारुति सुजुकी गिरावट दर्ज करने वाले प्रमुख शेयरों में शामिल रहे.

उदय कोटक ने बेची हिस्‍सेदारी

अरबपति बैंकर उदय कोटक ने कोटक महिन्द्रा बैंक में प्रवर्तक समूह की 2.83 प्रतिशत हिस्सेदारी 6,944 करोड़ रुपये में बेच दी है. आपको बता दें कि इस बिक्री के बाद निजी क्षेत्र के कोटक महिन्द्रा बैंक में उदय कोटक प्रवर्तक समूह की हिस्सेदारी घटकर 26.10 प्रतिशत रह गई.

यह रिजर्व बैंक के तय मानकों के अनुरूप होगी. रिजर्व बैंक ने उदय कोटक को बैंक में अपनी हिस्सेदारी को घटाकर 26 प्रतिशत पर लाने का आदेश दिया था. अरबपति कारोबारी उदय कोटक और रिजर्व बैंक के बीच हिस्सेदारी कम करने का मुद्दा काफी लंबे समय से चल रहा था.

इंटरग्लोब एविएशन को घाटा, शेयर में तेजी

इंडिगो की पैरेंट इंटरग्लोब एविएशन के शेयर में करीब 8 फीसदी से अधिक की तेजी रही. मंगलवार को कंपनी ने कहा कि मार्च में समाप्त तिमाही के दौरान उसे 870.8 करोड़ रुपये का घाटा हुआ. देश की सबसे बड़ी विमानन कंपनी इंडिगो का स्वामित्व रखने वाली कंपनी को इससे एक साल पहले की समान अवधि में 595.8 करोड़ रुपये का लाभ हुआ था. मार्च 2020 को समाप्त तिमाही के दौरान कंपनी की परिचालन आय बढ़कर 8,299.1 करोड़ रुपये हो गई. बता दें कि कोरोना संकट की वजह से विमान परिचालन लंबे समय तक बंद रहा.

ब्रिटानिया इंडस्ट्रीज को मुनाफा

एफएमसीजी कंपनी ब्रिटानिया इंडस्ट्रीज का बीते वित्त वर्ष 2019-20 की चौथी (जनवरी-मार्च) तिमाही का शुद्ध लाभ 26.53 प्रतिशत बढ़कर 372.35 करोड़ रुपये पर पहुंच गया. इससे पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में कंपनी ने 294.27 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ कमाया था. इस खबर की वजह से कंपनी के शेयर में बढ़त दर्ज की गई.

You might also like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *