blog

Zomato और Swiggy अब रांची में करेंगे शराब की होम डिलीवरी

Zomato और Swiggy अब रांची में करेंगे शराब की होम डिलीवरी
Spread the love

Swiggy और Zomato अब तक आपके घर के दरवाज़े तक खाने का सामान डिलीवर करते आ रहे थे, लेकिन अब कोरोना वायरस लॉकडाउन के दौरान इन दोनों ही कंपनियों ने आपके एक और शौक का भी सामाधान ढूंढ निकाला है। अब यह दोनों ही फूड डिलीवरी कंपनियां आपके लिए शराब की होम डिलीवरी करेंगी।

फिलहाल यह सुविधा झारखंड के रांची में ही उपलब्ध है, जिसकी शुरुआत आज से हो चुकी है। आने वाले दिनों में राज्य के दूसरे शहरों में भी इसका विस्तार किया जाएगा। स्विगी से शराब ऑर्डर करने के लिए कंपनी ने अपने App में एक नई कैटेगरी जोड़ी है जो है- ‘Wine Shops’ यहां से आप अपनी पसंदीदा शराब मंगवा सकते हैं वो भी बिना लाइन में खड़े हुए। स्विगी की तरह ही ज़ोमेटो ने भी यह कैटेगरी अपनी ऐप में जोड़ी है।

Swiggy ने Gadgets 360 को बताया कि इस सुविधा का गलत इस्तेमाल रोकने के लिए ऑर्डर के दौरान Age वेरिफिकेशन और यूज़र ऑथेंटिकेशन को अनिवार्य किया गया है। उम्र के वेरिफिकेशन के लिए ऑर्डर करते हुए यूज़र को अपनी सरकारी आईडी अपलोड करनी होगी। प्रमाणिकता के लिए यूज़र को अपनी सेल्फी भी भेजनी होगी। डिलिवरी के दौरान OTP के जरिए भी ग्राहक प्रमाणिकता जांची जाएगी।

स्विगी ने बताया कि शराब का ऑर्डर भी एक सीमित मात्रा में लिया जाएगा, राज्य कानून के द्वारा निर्धारित मात्रा से अधिक शराब का ऑर्डर नहीं लिया जाएगा।

Zomato ने भी Gadget 360 को जानकारी देते हुए बताया कि उनकी कंपनी ने रांची में शराब की होम डिलिवरी शुरू की है। हालांकि, ज़ोमेटो ने अभी यह साफ नहीं किया है कि वह यूज़र की प्रमाणिकता जानने के लिए क्या कुछ कदम उठाएंगे। ज़ोमेटो ने भी जानकारी दी कि वह झारखंड के अन्य शहरों में भी इस सुविधा को आने वाले दिनों में बढ़ाने वाले हैं।

गौरतलब है कि कुछ दिन पहले सरकारों ने आर्थिक स्थिति का हवाला देते हुए ‘शराब की दुकानों’ को लॉकडाउन के दौरान खोल दिया था, जिसके सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां लोगों ने उड़ा दी। शराब की दुकानों के बाहर लोगों को लम्बी-लम्बी कतारे देखने को मिली। ऐसे में स्विगी और ज़ोमेटो का यह कदम दुकान के बाहर लगी इन लाइनों को जरूर छोटा करेगा।

यकीनन यह फूड डिलिवरी इंडस्ट्री के लिए एक बहुत बड़ा बदलाव साबित होने जा रहा है, क्योंकि भारत में फिलहाल शराब की होम डिलीवरी के लिए कोई कानूनी प्रवाधान नहीं है।

You might also like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *