महाभारत के ‘भीम’ ने आम आदमी पार्टी से शुरू किया था राजनीति का सफर

मुंबई– कोरोना वायरस में लॉकडाउन का आदेश हुआ तो दूरदर्शन में सरकार के आदेश पर रामानंद सागर की ‘रामायण’ से लेकर बीआर चोपड़ा की ‘महाभारत’ और डॉ. चंद्रप्रकाश द्विवेदी का चाणक्य तक सभी शोज को फिर से शुरू कर दिया गया और इन सभी शो को जबरदस्त टीआरपी भी मिल रही है। यही नहीं इन शोज के चलते दूरदर्शन ने टीआरपी के सारे रिकॉर्ड्स भी तोड़ दिए हैं। वहीं ‘महाभारत’ के कई पात्र इन दिनों खबरों में बने हुए हैंं जो पर्दे की पीछे का कहानी को बयां कर रहे हैं। महाभारत में भीम प्रवीण कुमार सोबती ने निभाया था लेकिन वो अपना करियर राजनीति में भी अपना चुके हैं, ऐसा बहुत कम ही लोग जानते हैं।

दिल्ली के रहने वाले प्रवीण कुमार सोबती ने अरविंद केजरीवाल की आम आदमी पार्टी से राजनीति में एंट्री की थीं। एक इंटरव्यू के दौरान उन्होंने बताया कि कैसे उनकी राजनीति में न चाहते हुए भी एंट्री हुई।

महाभारत में अपनी लंबी-चौड़ी कद-काठी के लिए पहचाने वाले भीम, पांच पांडवों में से एक थे। एक इंटरव्यू में प्रवीण ने बताया कि उन्हें राजनीति में आने का कोई शौक नहीं था। एक्ट‍िंग के बाद वे घर पर आराम से गुजर-बसर कर रहे थे। आम आदमी पार्टी ने जब दिल्ली में चुनाव लड़ने का मन बनाया तो एक दिन दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल उनके घर गए। उन्होंने प्रवीण से राजनीति में आने का अनुरोध किया।

Gyan Dairy

महाभारत के भीम ने बताया कि पहले तो उन्होने इसके लिए मना किया लेकिन जब केजरीवाल ने कहा कि इसमें जब तक कोई अच्छा आदमी नहीं आएगा तो देश का भला कैसे होगा, तो उनकी इस बात से प्रवीण राजनीति में आने को तैयार हो गए। इसके बाद साल 2013 में उन्होंने आम आदमी पार्टी ज्वॉइन की। उन्होंने वजीरपुर क्षेत्र से चुनाव लड़ा, लेकिन हार गए। राजनीति में आना प्रवीण को जम नहीं पाया। वे कहते हैं कि इसमें उनका अनुभव बहुत खराब रहा। बाद में उन्होने यह भी कहा कि राजनीति से ज्यादा गंदगी और कहीं नही है।

प्रवीण कुमार सोबती ने कई प्रतियोगिताएं जीती और 1966 के कॉमनवेलथ गेम्स में डिस्कस थ्रो के लिए उनका सिलेक्शन किया गया। जमैका में आयोजित इस खेल प्रतियोगिता में प्रवीण ने सिल्वर मेडल जीता।1972 में प्रवीण ने जर्मनी के म्यूनिक शहर में आयोजित ओलंपिक्स में हिस्सा लिया था।

Share