blog

21 की उम्र में जीता मिस वर्ल्ड का खिताब, कभी मोटापे के कारण उड़ता था मजाक

Spread the love

देहरादून की रहने वाली 21 साल की भूमिका शर्मा मिस वर्ल्ड बॉडी बिल्डिंग चैम्पियन शिप जीतने वाली पहली भारतीय महिला बन गई हैं। यह कॉम्पीटीशन 17-18 जून को इटली के वेनिस शहर में हुआ। वर्ल्ड अमेच्यर बॉडी बिल्डिंग एसोसिएशन (WABBA) के तहत ऑर्गनाइज इंटरनेशल चैम्पियनशिप में उन्होंने गोल्ड मेडल जीता।

उन्होंने बताया कि मेरी बॉडी में काफी फैट था। एक वक्त ऐसा भी था, जब लोग मेरा मजाक उड़ाते थे, लेकिन मैंने जब खुद पर मेहनत कर बॉडी को टोन्ड कर लिया तो लोगों ने ऐसा करना बंद कर दिया।

भूमिका शर्मा देहरादून के ही एक प्राइवेट कॉलेज में सेकंड ईयर की स्टूडेंट हैं। उनकी मां हंसा मनराल इंडियन वुमन वेटलिफ्टिंग टीम की चीफ कोच हैं।

कभी प्रोफेशनल शूटर बनने का सोचने वाली भूमिका ने एक जिम में ट्रेनर द्वारा दिखाए वर्कआउट के वीडियो को देखने के बाद बॉडीबिल्डिंग करने का फैसला किया।

भूमिका का यहां तक पहुंचने का सफर काफी मुश्किलों भरा था, हालांकि उन्हें फैमिली का पूरा सपोर्ट था। ट्रेनिंग के पहले साल में वे नेक इंज्युरी का शिकार हो चुकी हैं।

उनके मुताबिक, एक दिन में जिम में थी। उसी दौरान मेरे ट्रेनर ने मुझे लेडी बॉडी बिल्डर्स के वर्कआउट के वीडियो दिखाए। मैंने उससे पहले कभी भी किसी महिला की पुरुष जैसी बॉडी नहीं देखी थी। उसके बाद ही मुझे इस बात का पता लगा कि यही वो चीज है, जिसे मैं करना चाहती हूं।

उनके मुताबिक, बॉडीबिल्डिंग को हमेशा से मेल डॉमिनेट फील्ड माना जाता रहा। लेडी बॉडी बिल्डर्स में इसे लेकर काफी नेगेटिविटी है। एक वक्त मैं भी काफी हताशा के दौर से गुजर चुकी हूं।

You might also like