कंगना पहुंची हिमांचल, ट्वीट कर कहा- जिन्हें मैने किया एक्सपोज, उनके साथ घूमता है उद्धव ठाकरे का बेटा

सुशांत सिंह राजपूत केस में जिस तरह से कंगना रनौत ने मूवी माफियाओं व ड्रग्स माफियाओं को उजागर किया उसके बाद कंगना सुर्खियों में बनी हैं, हालांकि इस दौरान कंगना और महाराष्ट्र सरकार के बीच तनातनी हो गयी जो खत्म होने का नाम नहीं ले रही हैं. कंगना बॉलीवुड की उन चुनिंदा सितारों में से हैं जो शिवसेना पार्टी के खिलाफ खुल कर अपने विचार रख रही हैं. कंगना ने एक बार फिर महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे पर एक ट्वीट के सहारे निशाना साधा है. बता दें कि आज कंगना मुंबई से अपने घर हिमांचल वापस लौट गयी हैं.

कंगना ने ट्वीट करते हुए कहा- महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री की बेसिक समस्या ये है कि मैंने आखिर क्यों मूवी माफिया, सुशांत सिंह राजपूत के हत्यारों और उनके ड्रग रैकेट को एक्सपोज किया, जिनके साथ उनका बेटा आदित्य ठाकरे घूमता-फिरता था. ये मैंने बहुत बड़ा अपराध कर दिया है और अब वे मुझे फिक्स करना चाहते हैं. ओके आप कोशिश कीजिए. देखते हैं कि कौन किसको फिक्स करता है.


बता दें कि कंगना सुशांत सिंह राजपूत मामले में बयानबाजी करते हुए मूवी माफिया और बॉलीवुड की कई हस्तियों पर निशाना साध चुकी हैं. हालांकि शिवसेना लीडर संजय राउत के साथ हुई बहस उन्हें भारी पड़ गई. दरअसल राउत के साथ हुई ट्विटर वॉर के दौरान कंगना ने मुंबई को असुरक्षित और पीओके बता दिया था. वही संजय ने कंगना को हरामखोर और फिर नॉटी कहा था. इसके बाद कंगना के ऑफिस में बीएमसी ने एक्शन लिया और अवैध निर्माण पर तोड़फोड़ की गई. कंगना ने इसके बाद अपने ऑफिस को राममंदिर और बीएमसी कर्मचारियों की बाबर से तुलना कर दी.

कंगना ने इसके बाद सीधे महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे पर निशाना साधा और उन्होंने ये भी कहा है कि जल्द ही ठाकरे का घमंड भी टूटेगा. बीएमसी के एक्शन के बाद मुंबई पुलिस कंगना के ड्रग्स एंगल के सिलसिले में भी जांच कर सकती है. कंगना ने एक वीडियो में कहा था कि वे ड्रग एडिक्ट थी लेकिन वे अब उन सब चीजों को पीछे छोड़ चुकी हैं. हालांकि कंगना को इस मामले में केंद्र सरकार काफी मदद कर रही है और हाल ही में उन्हें वाई श्रेणी की सिक्योरिटी भी प्रदान की गई थी.

Share