बीएमसी से कंगना ने दफ्तर की तोड़फोड़ के लिए मांगा 2 करोड़ रुपये का मुआवजा

मुंबई। बीते 9 सितंबर को बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत के मणिकर्णिका दफ्तर पर शिवसेना के इशारे पर बीएमसी ने तोड़फोड़ की थी। अब कंगना ने बॉम्बे हाईकोर्ट में याचिका लगाकार 2 करोड़ रुपये का मुआवजा मांगा है। कंगना ने आरोप लगाया कि उनके खिलाफ यह कार्रवाई महाराष्ट्र की सत्ताधारी पार्टी शिवसेना नेता के खिलाफ बोलने के चलते की गई है। यही पार्टी नगर पालिका को देख रही है, लिहाजा इसने तोड़फोड़ कर अधिकार का गलत इस्तेमाल किया है।

सुशांत सिंह मौत केस में जांच को लेकर मुंबई पुलिस पुलिस की आलोचना करने के बाद से कंगना महाराष्ट्र सरकार के निशाने पर है। उन्होंने मुंबई को “पाकिस्तान से कब्जे वाले कश्मीर” और “पाकिस्तान” से तुलना की थी, जिसके बाद राजनीतिक विवाद पैदा हो गया था।

महाराष्ट्र के सत्ताधारी गठबंधन ने कंगना पर भारतीय जनता पार्टी के राजनीतिक एजेंडे को आगे बढ़ाने का आरोप लगाया। कंगना को शिवेसना नेताओं के साथ विवाद के बीच बीजेपी की नेतृत्व वाली केन्द्र सरकार से वाई श्रेणी की सुरक्षा दी गई है।

Gyan Dairy

कंगना ने कहा कि तोड़फोड़ को लेकर उनकी याचिका पर बीएमसी का जवाब में किया गया दावा बिना किसी पर्याप्त साक्ष्य के और मनमाना था। गौरतलब है कि 9 सितंबर को बीएमसी की तरफ से तोड़फोड़ शुरू करने के कुछ घंटे बाद बॉम्बे होईकोर्ट ने कथित अवैध निर्माणाधीन पर रोक लगा दी थी। कोर्ट ने तोड़फोड़ के खिलाफ अंतरिम राहत को लेकर कंगना की तरफ से दायर याचिका पर भी बीएमसी से जवाब मांगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share