रामायण के ‘लक्ष्मण’ ने खोला राज, बताया उस समय कितनी मिलती थी सैलरी

नई दिल्ली। लॉकडाउन के दौरान एक बार फिर से शुरू हुए धारावाहिक ‘रामायण’ को दर्शक जमकर प्यार दे रहे हैं। इंडियन टेलीविजन के इतिहास में ‘रामायण’ जबरदस्त टीआरपी देने का रिकॉर्ड बना चुका है। सीरियल के शुरू होने के साथ ही इससे जुड़े पुराने दिलचस्प किस्से एक बार फिर से एक-एक कर सामने आ रहे हैं। 80 के दशक में रामायण देखने के लिए लोग हाथ जोड़कर टीवी के सामने बैठ जाया करते थे। पर्दे के आगे की कहानियों के अलावा पर्दे के पीछे की भी ढेरों कहानियां हैं, जिनको दर्शक जानना चाहते हैं। क्या आप जानते है, तब इनको शो के लिए कितने पैसे मिलते थे। 

भारतीय टेलीविजन के इतिहास में जबरदस्त टीआरपी देने का रिकॉर्ड बना चुके धारावाहिक रामायण (Ramayan) के बेहिसाब किस्से हैं। शो के कई पात्रों ने तो दुनिया को अलविदा कह दिया है, लेकिन शो में राम, लक्ष्मण और सीता का किरदार निभाने वाले अरुण गोविल, सुनील लहरी और दीपिका चिखलिया कई किस्सों का जिक्र कर चुके हैं। हाल ही में एक टीवी चैनल से बातचीत के दौरान रामायण के लक्ष्मण यानी सुनील लहरी (Sunil Lahiri) ने बताया कि शो की कड़ी मेहनत के बाद उन्हें कितने पैसे मिलते थे।

अपने पुराने दिनों को याद करते हुए उन्होंने कहा कि बस इतना कहूंगा कि पीनट्स मिलते थे। हालांकि आज के जमाने की तरह, तब इतना खर्चा भी नहीं था। सुनील ने सीधे तौर पर ये नहीं बताया कि उन्हें कितने रुपये मिला करते थे लेकिन उन्होंने इतना जरूर कहा कि फीस बहुत कम हुआ करती थी। रामायण सीरियल की शूटिंग 1987 में हुई थी।

Gyan Dairy

उन्होंने कहा कि आज की तुलना में तब पैसा बहुत कम था। आज कोई एक्टर एक शो करके घर बना सकता है। लेकिन तब हम पूरी रामायण करके भी घर बनाने की नहीं सोच सकते थे। रामायण के लक्ष्मण ने कहा कि जिस तेजी के साथ मनोरंजन जगत लगातार आगे बढ़ रहा है वो सराहनीय है।

आपको बता दें कि निर्देशक रामानंद सागर की रामायण पूरे 33 साल बाद दूरदर्शन पर फिर से प्रसारित हो रही है। 33 साल पहले भी इस टीवी सीरियल ने सफलता के सारे पैमाने तोड़ द‍िए थे और आज एक बार फिर इस शो ने दर्शकों को अपना दीवाना बना ल‍िया है।  

Share