बिग बॉस के विजेता ने बिना बैंड, बाजा और बारात के रचाई शादी, विवाहखर्च के पैसे को किया दान

मुंबई। आजकल देश में कोरोना वायरस की वजह से लॉकडाउन चल रहा है, इस दौरान शादियों का सीजन भी है लेकिन दूल्हा दुल्हन के सारे अरमानो पर इस कोरोना महामारी ने पानी फेर दिया। ‘बिग बॉस 2’ और ‘एमटीवी रोडीज 5’ के विनर रहे आशुतोष कौशिक ने अपनी शादी से लॉकडाउन में एक मिसाल कायम किया है। मात्र 4 लोगों की उपस्थिति में उन्होंने शादी के 7 फेरे लिए और सारे जमा पैसे कोरोना से जंग में मदद के लिए दान कर दिए। आशुतोष ने नोएडा स्थित अपने आवास पर यह शादी की।

महामारी से पहले आशुतोष का रिश्ता अलीगढ़ की अर्पिता से तय हो गया था। दोनों परिवार शादी की तैयारी में जुटे थे। शादी के लिए 26 अप्रैल की तिथि तय हुई थी। लेकिन कोरोना के चलते शादी सादगी में की गई। कोई धूमधड़ाका नहीं हुआ। आशुतोष कौशिक ने हिन्दुस्तान से हुई बात में कहा कि उन्होंने शादी सेक्टर-100 में प्रतीक सोसाइटी स्थित अपने घर पर की। घर पर ही फेरे सहित अन्य रस्में पूरी की गईं। शादी में आशुतोष के परिवार की ओर से मम्मी और बहन शामिल हुईं जबकि अर्पिता के परिवार की ओर से भी सिर्फ दो सदस्य ही शादी में शामिल रहे।


उन्होंने कहा कि यह शादी उनके लिए यादगार हो गई। सही मायने में शादियां आगे भी ऐसे ही होने चाहिए, जिसमें किसी तरह का कोई दिखावा ना हो। उन्होंने कहा कि इस शादी में खर्च करने के लिए उन्होंने जितनी तैयारी की थी, वह सारा पैसा उन्होंने पीएम केयर फंड में कोरोना की लड़ाई के लिए दे दिया है। ताकि देश सुरक्षित हो सके। हालांकि, यह धनराशि कितनी है, उन्होंने यह बताने से इनकरा कर दिया।

Gyan Dairy

जरूरतमंदों तक भोजन पहुंचा रहे
एक्टर और एंकर आशुतोष कौशिक मूलरूप से सहारनपुर के रहने वाले हैं। वह वर्ष 2008 में बिग बॉस सीजन 2 के विजेता बने। वह एमटीवी रोडिज 5 के विनर हैं। उन्होंने अपने यू ट्यूब चैनल से आने वाली सारी कमायी को भी कोरोना के संक्रमण काल में गरीबों को समर्पित करने का दावा किया और कहा कि इस चैनल से होने वाली सारी कमाई को वह गरीबों के भोजन की व्यवस्था करने में खर्च कर रहे हैं।

Share