जब इरफान खान ने खत लिखकर कर दिया था सबको भावुक, कहा था- मेरे लिए दुआ करें

मुंबई। इरफान खान का नाम सुनते ही जेहन में उनके सहज आदाकारी के दृश्य कौंध जाते हैं। जिंदगी को सहज रुप से जीने वाले इरफान की एक्टिंग भी काफी सहज थी जो लोगों को काफी पसंद आती थी। हालांकि इरफान खान अब हमारे बीच नहीं रहे हैं और लंबे समय से कैंसर से लड़ रही जंग को वह हार गए। उनको न्यूरोएंडोक्राइन ट्यूमर हुआ है जो एक दुर्लभ कैंसर है।

इरफान खान ने कैंसर का इलाज भी कराया और वह काम पर लौट चुके थे। उनकी आखिरी फिल्‍म अंग्रेजी मीडियम 2 थी। हालांकि उन्‍होंने कैंसर की लड़ाई के दौरान मीडिया को एक खत लिखा था, जो काफी भावुक था। उन्होंने लिखा था, ”मैं धीरे-धीरे स्वस्थ हो रहा हूं। जिंदगी की असल लड़ाई से लड़कर लौटा हूं थोड़ा थका हूं। मैं आप सब की फिक्र को समझता हूं जानता हूं कि आपने मुझे बात करने और अपना सफर आपसे साझा करने की गुजारिश की। लेकिन मैं अभी खुद को गहराई से नाप रहा हूं। छोटे-छोटे कदमें से आगे बढ़ रहा हूं और कोशिश कर रहा हूं कि सेहत के इस सुधार और काम को एक कर दूं। आपकी दुआओं ने मेरे दिल को छुआ है और यह मेरे लिए बहुत मायने रखती हैं। जिस तरह से आपने मुझे बीमारी से उबरने के लिए समय दिया। मेरी प्राइवेसी की इ्ज्जत की मैं आपका बहुत सम्मान करता हूं। इस धैर्य, प्यार और अपनेपन के लिए शुक्रिया। इस इमोशनल मैसेज के लिए इरफान ने अपनी चिट्ठी में मशहूर राइटर Rikle की कुछ लाइन्स लिखीं।”

Gyan Dairy

इरफान खान ने अपनी इस बीमारी का खुलासा खुद अपने ट्विटर हैंडल पर ट्वीट करके किया था। इरफान ने ट्वीट किया था, ”कभी-कभी आपको ऐसे झटके लगते हैं कि आपको हिला कर रख देती है। मेरी जिंदगी के पिछले 15 दिन एक सस्पेंस स्टोरी की तरह रहे हैं। मुझे नहीं पता था कि दुर्लभ कहानियों की मेरी खोज मुझे एक दुर्लभ बीमारी तक पहुंचा देगी। मैंने कभी हार नहीं मानी है और हमेशा अपनी पसंद के लिए लड़ता आया हूं और आगे भी ऐसा ही करूंगा। मेरा परिवार और मेरे दोस्त मेरे साथ हैं हम सबसे अच्छे तरीके से इससे निपटने की कोशिश कर रहे हैं। तब तक आप लोग कृपया कुछ अंदाजा न लगाएं, क्योंकि हफ्ते-दस दिन में जब सभी जांच के रिपोर्ट्स आ जाएंगे तब मैं खुद ही अपनी कहानी आपको बताऊंगा। तब तक के लिए मेरे लिए दुआ करें।”

Share