रोज पिएं एक गिलास गन्ने का जूस, गंभीर बीमारियों से मिलेगी निजात

नई दिल्ली। गर्मियों में हम लोग शीतल पेय के स्थान पर कई बार गन्ने के रस का सेवन करते हैं। लेकिन क्या आप इसके फायदे जानते हैं। गन्ने का रस मुंह की दुर्गंध, कब्ज, एसीडिटी, फैट घटाने और खराब इम्यूनिटी का रामबाण इलाज है। अगर आप भी दोनों में से किसी भी एक समस्या से परेशान हैं तो इस गर्मी खूब पिएं गन्ने का रस। जी हां गन्ने का रस सेहत के लिए किसी वरदान से कम नहीं माना जाता है। आइए जानते हैं सेहत से जुड़े इसके कई लाजवाब फायदे।

गन्ने का रस कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, आयरन, पोटेशियम और कई अन्य आवश्यक पोषक तत्वों से भूरपूर होने की वजह से व्यक्ति के स्वास्थ्य और ऊर्जा के स्तर को बनाए रखता है। जिसकी वजह से व्यक्ति की थकान दूर हो उसे एनर्जी मिलती है।

आयुर्वेद के अनुसार गन्ने का रस रेचक और क्षारीय गुणों को प्रदर्शित करता है जिससे मल त्याग, पेट की जलन में सुधार और कब्ज से राहत मिलती है।

गन्ने का रस खनिजों में बेहद समृद्ध माना जाता है। इसमें पोटेशियम और मिनरल्स मौजूद होते हैं, जो एंटी-बैक्टेरियल्स की तरह काम करते हुए दांतों की सड़न और सांस की बदबू को रोकने में मदद करते हैं। इतना ही नहीं गन्ने को चबाने से मुंह में बनने वाली लार का निर्माण भी अच्‍छी मात्रा में होता है। यह लार गन्ने में मौजूद कैल्शियम के साथ मिलकर ऐसे एंजमाइम्स का न‍िर्माण करते हैं जो दांतों और मसूड़ों को मजबूत बनाते हैं।

Gyan Dairy

गन्ना फाइबर से भरपूर होने की वजह से शरीर से अतिरिक्त चर्बी हटाने का काम करता है। फाइबर शरीर में फैट को नियंत्रित करने में अहम भूमिका निभाता है।

शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए आप गन्ने के रस का सेवन कर सकते हैं। गन्ने का रस प्राकृतिक एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होने की वजह से संक्रमण से लड़कर व्यक्ति की इम्यूनिटी बूस्ट करता है।

गन्ने में मौजूद पोटेशियम पाचन तंत्र को सुधारकर व्यक्ति को गैस और एसिडिटी जैसी समस्याओं से दूर रखने में मदद करता है।

Share