खाने के हैं शौकीन तो ऐसे बनाएं ये डोसा, कर्नाटक में है बहुत मशहूर

लखनऊ। डोसा तो आप सबको पसंद ही होगा और इसे आप बनाकर खाते भी होंगे। सादा डोसा और मसाला डोसा तो आपने खाया ही होगा मगर आज हम आपको एक ऐसे डोसे के बारें में बताने जा रहें हैं जिसे आपने शायद ही खाया होगा। इस डोसे का नाम है पोनसा पोलो डोसा, जिसे कटहल का डोसा कहा जाता है। ये डोसा कर्नाटक में बड़े ही चाव से खाया जाता है। यह खाने में मीठा होता है।

बता दें कि कोंकण क्षेत्र में पोनसा का अर्थ होता है पका हुआ कटहल और पोलो मतलब डोसा। आइये जानते हैं कर्नाटक के इस पोनसा पोलो को कैसे बनाया जाता है।

पोनसा पोलो को बनाने के लिए हमें ज़रूरत है …..

1 कप चावल:
1 कप पका हुआ कटहल (कटा हुआ)
2 इलायची
2 बड़े चम्मच- कसा हुआ नारियल
स्वादानुसार गुड़
एक चुटकी नमक

ऐसे बनाए पोनसा पोलो:

विधि:

Gyan Dairy

चावल को धोकर 1-2 घंटे के लिए भिगो दें। फिर कटहल के बीजों को हटा कर उसे काट लें। अब भिगोए हुए चावल को पानी से निकालें और उसमें कटा हुआ कटहल, गुड़, इलायची के दाने और नमक मिला लें। (आप इसी समय इसमें कद्दूकस किया हुआ नारियल भी डाल दें)। फिर बिना पानी मिलाए इसे पीसकर बारीक पेस्ट बना लें। डोसा बनाने से पहले घोल की मिठास चख लें।

अब इस घोल को एक बड़े कटोरे में डालें। इसमें थोड़ा-थोड़ा पानी डालें, जब तक कि घोल गाढ़ा व एकसार गिरने वाला न बन जाए। घोल को तुरंत इस्तेमाल करना चाहिए। अगर बाद में इस्तेमाल करना है, तो इसे फ्रिज में रख दें। अब मध्यम आंच पर तवा गर्म करें।

धीमी आंच पर तवे को गरम करें। अब इस पर डोसे का थोड़ा घोल फैलाएं। (ये डोसे आमतौर पर थोड़े मोटे और नर्म बनते हैं) जब डोसे का निचला हिस्सा सुनहरा भूरा हो जाए, तब उसे पलटें और दूसरी तरफ से भी सेंक लें।

Share