खर्राटों के नुकसान से बचना है तो करें कुछ घरेलु उपाय

नई दिल्ली। खर्राटे की आवाज अच्छी खासी नींद को उड़ा देती है। खर्राटे की आवाज से दूसरे की नींद ही नही, आपकी सेहत को भी नुकसान पहुंचाती है। खर्राटे आने के कई कारण हो सकते है। जिसमें सबसे बड़ा कारण है अधिक वजन का होना। खर्राटे श्वास की समस्या के साथ ही दिल के रोगों का भी जोखिम बढ़ाते हैं, इसलिए इस परेशानी का तत्काल इलाज करने की जरूरत है। कुछ घरेलु उपायों से भी इस समस्या का समाधान किया जा सकता है। लहसुन और प्याज गले के टॉन्सिल में सूजन को कम करता है। ये स्लीप एपनिया से बचाव करता है। यदि आप लहसुन और प्याज की गंध से परहेज नहीं करते तो आप बिस्तर पर जाने से पहले लहसुन और प्याज को चबा सकते हैं। आप चाहें तो रात के खाने में भी लहसुन और प्याज का इस्तेमाल सलाद के रूप में कर सकते हैं।

अदरक एक सुपरफूड है जो पेट की ख़राबी, वजन कम होना, दिल की समस्याओं से लेकर आम खांसी और जुकाम तक सबका इलाज कर सकती है। अदरक एंटी इंफलामेटरी और जीवाणुरोधी एजेंट के रूप में काम करती है। ये सलाइवा सेक्रेशन को बढ़ाती है, जो गले को आराम देने के साथ ही खर्राटों से राहत दिलाती है। खर्राटों की समस्या से छुटकारा पाने के लिए दिन में दो बार अदरक और शहद की चाय पीना फायदेमंद है। हल्दी वाला दूध काफी गुणकारी होता है। इसका सेवन सोने से पहले ज़रूर करें। साथ ही इलायची खाने से गले के अंदर हवा आने-जाने में दिक्कत नहीं होती और खर्राटों में कमी आती है। इसके लिए आप एक गिलास पानी में आधा या एक चम्मच इलायची पाउडर मिलाएं और सोने से आधा घंटा पहले उसका सेवन करें। नियमित रूप से इसका सेवन खर्राटों की समस्या से निजात दिला सकता है। खर्राटों से छुटकारा पाने का सबसे अच्छा तरीका है कि आप अपनी नींद की गुणवत्ता में सुधार करें। नींद में सुधार शरीर में उत्पादित मेलाटोनिन की मात्रा को बढ़ाकर किया जा सकता है। मेलाटोनिन एक हार्मोन है जो हमें नींद देता है। अनानास, केले और संतरे में मेलाटोनिन की उच्च मात्रा हैं और आप उन्हें खर्राटों को रोकने के लिए इस्तेमाल कर सकते है।

Gyan Dairy
Share