हमारी सेहत के लिए वरदान है मशरूम, जानें फायदे

नई दिल्ली। हमारी सब्जी मशरूम में इतने पोषक तत्व पाए जाते हैं कि उसे शरीर के लिए वरदान माना जाता है। मशरूम में लाइसिन नामक अमीनो अम्ल अधिक मात्रा में पाए जाते है, लेकिन गेहूं, चावल आदि अनाजों में इसकी मात्रा बहुत कम होती है। यह अमीनो अम्ल मानव के सन्तुलित भोजन के लिए आवश्यक होता है। मशरूम में मौजूद एंटी ऑक्सीडेंट हमें फ्री रेडिकल्स से बचाता है। यह एक प्राकृतिक एंटीबायोटिक है, जो माइक्रोबियल और अन्य फंगल संक्रमण को ठीक करता है।

मशरूम ब्लड प्रैशर जैसी बीमारी को भी नियंत्रित करने में मदद करता है। जो लोग इस बीमारी से परेशान हैं, उन्हें मशरूम का सेवन अवश्य करना चाहिए। कार्बोहाइड्रेट की पर्याप्त मात्रा होने के कारण मशरूम कब्ज, अपचन, अति अम्लीयता सहित पेट के विभिन्न विकारों को दूर करता है, साथ ही शरीर में कोलेस्ट्रॉल एवं शर्करा के अवशोषण को कम करता है। मशरूम वह सब कुछ देगा, जो डायबिटीज रोगी को चाहिए। इसमें विटामिन, मिनरल और फाइबर होता है। इसमें फैट, कार्बोहाइड्रेट और शुगर भी नहीं होती, जो डायबिटीज रोगी के लिए जानलेवा है। यह शरीर में इन्सुलिन का निर्माण करता है।

मशरूम में लीन प्रोटीन होता है, जो वजन घटाने और मोटापा कम करने वालों को प्रोटीन डाइट पर रहने के लिए कहा जाता है, जिसमें मशरूम खाना अच्छा होता है। इसमें सोडियम सॉल्ट नहीं पाया जाता, जिससे मोटापे, गुर्दे और हृदयघात रोगियों के लिए खाना जरूरी है। हृदय रोगियों के लिए कोलेस्ट्रॉल, वसा एवं सोडियम सॉल्ट सबसे अधिक हानिकारक पदार्थ होते हैं।

Gyan Dairy

मशरूम में लौह तत्व यूं तो कम मात्रा में पाया जाता है, लेकिन मौजूद होने के कारण रक्त में हीमोग्लोबिन के स्तर को बनाये रखता है। इसमें बहुमूल्य फॉलिक एसिड की उपलब्धता होती है, जो केवल मांसाहारी खाद्य पदार्थों से प्राप्त होता है। लौह तत्व एवं फॉलिक एसिड के कारण यह रक्त की कमी की शिकार अधिकांश ग्रामीण महिलाओं एवं बच्चों के लिए सर्वोत्तम आहार है।

Share