एक टुकड़ा गुड़ वजन कंट्रोल रखने में सहायक

नई दिल्ली। सर्दियों के मौसम में चीनी की जगह गुड़ का इस्तेमाल करने से रोग प्रतिरोधक क्षमता में बढ़ोत्तरी होती है। आयुर्वेद के अनुसार सेहत के लिए गुड़ बहुत लाभकारी होता है। खाना खाने के बाद एक टुकड़ा गुड़ खाने से न सिर्फ आपका खाना आसानी से पच जाता है बल्कि इससे आपका वजन भी कंट्रोल में रहता है। गुड़ में कई तरह के आवश्यक मिनरल्स और विटामिन होते है। जो त्वचा के लिए प्राकृतिक क्लींजर का काम करते है। ये शरीर को अंदर से साफ रखते है, जो त्वचा के ग्लो करने के लिए बहुत आवश्यक होता है शरीर के तापमान को नियंत्रित रखने में गुड़ सहायक होता है। गुनगुने पानी या फिर चाय में शक्कर की जगह गुड़ पीना चाहिए, इससे सेहत और सुंदरता दोनों बनी रहती हैं। गुड में विटामिन -। और विटामिन -ठ, सुक्रोज, ग्लूकोज, आयरन, कैल्शियम, फास्फोरस, पोटेशियम, जस्ता, मैग्नेशियम तत्व पाए जाते हैं। फास्फोरस की मात्रा अधिक रहती है। गुड़ ब्लरड प्रेशर को कंट्रोल करने का काम भी करता है। खासतौर पर हाई ब्लड प्रेशर से परेशान लोगों को रोजाना गुड़ खाने की सलाह दी जाती है। गुड़ में भरपूर मात्रा में कैल्शिायम और फास्फो्रस पाया जाता है। यह दोनों तत्व् हड्डियों को मजबूती देने में बेहद मददगार हैं।

गुड़ के साथ अदरक खाने से जोड़ों के दर्द से छुटकारा मिलता है। गुड़ शरीर को मजबूत और एक्टिव बनाए रखता है। शरीरिक कमजोरी दूर करने के लिए दूध के साथ गुड़ का सेवन करने से ताकत आती है और शरीर ऊर्जावान बना रहता है। अगर आपको दूध नहीं पसंद है तो एक कप पानी में पांच ग्राम गुड़, थोड़ा सा नींबू का रस और काला नमक मिलाकर सेवन करने से आपको थकान महसूस नहीं होगी। गुड़ का सेवन आंखों के लिए बहुत फायदेमंद है। गुड़ खाने से आंखों की कमजोरी दूर होती है। माइग्रेन की शिकायत होने पर रोजाना गुड़ खाने से बहुत फायदा होता है। नियमित रूप से गुड़ खाने से आपका दिमाग मजबूत बना रहेगा और याद्दाश्तम भी अच्छीे रहेगी। गुड़ सर्दी-जुकाम भगाने में काफी असरदार है। काली मिर्च और अदरक के साथ गुड़ खाने से सर्दी-जुकाम में आराम मिलत है। अगर किसी को खांसी की शकिायत है तो उसे चीनी के बजाए गुड़ खाना चाहिए। गुड़ को अदरक के साथ गर्म कर खाने से गले की खराश और जलन में राहत मिलती है।

Gyan Dairy
Share