शरीर के लिए सम्पूर्ण व्यायाम है सूर्य नमस्कार, फायदे जानकर चौंक जाएंगे आप

नई दिल्ली। समूचा विश्व इस समय कोरोना वायरस के संक्रमण से जूझ रहा है। अभी तक इस महामारी का कोई इलाज नहीं निकल पाया है। ऐसे में चिकित्सक लोगों को एक ही सलाह दे रहे हैें कि यदि हम अपने शरीर का इम्यून सिस्टम (बीमारियों से लड़ने की क्षमता) मजबूत रखेंगे तो रोगों से भी बचाव कर सकते हैं। योग और प्राणायाम से विभिन्न प्रकार के असाध्य रोगों से अपना बचाव किया जा सकता है। योग और प्राणायाम में सूर्य नमस्कार का बड़ा महत्व है।

सूर्य नमस्कार को सम्पूर्ण व्यायाम माना जाता है। सूर्य नमस्कार 12 तरह के आसनों को मिलाकर किया जाने वाला एक योगासन है। इसमें प्रणमासन, हस्तउत्तनासन, हस्तपादासन, अश्वसंचालानासन, चतुरंग दंडासन, अष्टांह नमस्कार, भुजंगासन सहित अन्य योगासन भी शामिल हैं। ये 12 योगासन शरीर से टॉक्सिन निकालने में मदद करते हैं, जिससे शरीर का इम्यून सिस्टम मजबूत होता है और रोगों से लड़ने की क्षमता बढ़ती है। सूर्य नमस्कार रोज सुबह जल्दी उठकर करें तो इससे मन शांत और प्रसन्न रहता है। क्योंकि इसे करते समय सूरज की किरणें सीधे हमारे शरीर पर पड़ती हैं।

Gyan Dairy

सूर्य नमस्कार में शरीर से हर अंग का संपूर्ण व्यायाम हो जाता है। इससे शरीर के हर अंग में रक्त संचार बढ़ जाता है। रक्त प्रवाह सुचारू होने से शरीर में स्फूर्ति बनी रहती है। सूर्य नमस्कार एंटी बैक्टेरियल तत्व को शरीर में बढ़ाता है। लॉकडाउन के दौरान अधिकतर लोग घरों में समय व्यतीत कर रहे हैं। ज्यादा कैलोरी वाले खाने के कारण शरीर में वसा बढ़ती है। ऐसे में यदि शरीर से कैलोरी बर्न करनी है तो सूर्य नमस्‍कार सबसे बढ़िया आसन है। इससे शरीर के हर हिस्से पर जोर पड़ता है, जिससे चर्बी कम होने लगती है और शरीर लचीला भी हो जाता है।

Share