अगर पसंद है कोई लड़की तो रखें इन 5 बातों का ध्‍यान ताकि वो आपको नकारे नहीं

आपको अपनी नौकरी पसंद है, आपके पास पैसा भी है, सोशल लाइफ भी अच्छी है परन्तु अब आप ऐसी लडकी की तलाश में हैं जिसके साथ आप अपना जीवन गुज़ार सकें। ऐसे लड़के जो अपनी पढाई और करियर पर अधिक केंद्रित होते हैं उन्हें डेटिंग का ज़्यादा अनुभव नहीं होता। हो सकता है कि आपको कुछ खराब अनुभव भी हुए हों या डेटिंग पूल में कूदने से पहले आपको कुछ सलाह की आवश्यकता है? कुछ भी हो, यदि आप चाहते हैं कि आप जिस लडकी को पसंद करते हैं वह लडकी आपको नकारे नहीं तो इन पांच बातों का ध्यान अवश्य रखें।

1. बहुत ज़्यादा अग्रेसिव या अतिमहत्वकांक्षी न बनें

आश्वस्त होना एक बात है और अतिमहत्वकांक्षी होना अलग बात है। पहली डेट पर बिलकुल आश्वस्त होकर न जाएँ। अपना परिचय नम्र और आदरपूर्ण तरीके से दें, जेंटलमेन बनें। उसकी प्रतिक्रिया को पढने की कोशिश करें और अनुमान लगायें कि आप आगे कैसे बढ़ सकते हैं। अपनी सहजता पर विश्वास करें और राज़ को राज़ ही रहने दें। प्रत्यक्ष बात करें परन्तु अति न करें।

2. स्वयं को उदासीन और शांत दिखाना छोड़ें

किसी भी महिला से बात करते समय एक मध्य सीमा होती है, बहुत अधिक अनुमान लगाने से इस बात की संभावना अधिक होती है कि आप अति कर दें। क्या आप वास्तव में उसे जानना चाहते हैं? तो इसे दिखाएँ। स्वयं को उदासीन और शांत दिखाना छोड़ें – परन्तु अपना स्वयं का बहिष्कार न करें।

3. आप जैसे हैं वैसे ही रहें

ऐसा कहा जाता है कि जब आप किसी नए व्यक्ति से मिलते हैं तो किसी भूमिका में न मिलें, आप जैसे हैं वैसे बने रहें चाहे वह आपकी पहली मुलाक़ात हो या आप पहले भी मिल चुके हों। इससे क्या होगा? आपको धीरे धीरे उसे अपनी सच्चाई बतानी ही होगी, आप इन बातों को हमेशा छुपकर नहीं रख सकते। इसके बाद भी यदि आप महसूस करते हैं कि ऐसा करना चाहिए तो कोई गंभीर मामला हो सकता है। अच्छा होगा कि आप अपनी सच्चाई दिखाएँ।

Gyan Dairy

4. बहुत अधिक प्रयत्न करना

यदि बहुत अधिक प्रयास करने के बाद भी आपको प्रतिकिया नहीं मिल रही है तो अच्छा होगा कि आप विनम्रता से हट जाएँ। बहुत अधिक पीछे झुकना असहनीय, ज़रूरतमंद और नीरस हो जाता है। यदि आपको ठंडी प्रतिक्रिया मिल रही है तो उसे कुछ समय दें और अपने मित्रों के साथ समय व्यतीत करें। अपने बारे में कुछ रहस्य रखें। कई महिलाओं को यह दिलचस्प लगता है और वे बाद में आपको खोजती हैं।

5. उस पल में रहें

हमारे पास वर्तमान ही होता है, और यही वह समय ओता है जब आप उससे प्रमाणिक स्तर पर जुड़ सकते हैं। यदि आपके विचार घूम रहे हैं तो गहरी सांस लें और वास्तव में वह क्या कह रही है उसे ध्यान से सुनें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share