UA-128663252-1

कोरोना से निजात के बाद भी रखें खान-पान का खास ख्याल

नई दिल्ली। कोरोनावायरस से रिकवरी दर बेशक हमारे देश में अधिक है लेकिन इस बीमारी से निजात पाने के बाद भी लोग कई तरह की परेशानियों से जूझ रहे हैं। बीमारी का आफ्टर इफेक्ट बेहद परेशान करने वाला है। कुछ लोगों को कोरोना से टीक होने के बाद भी सांस लेने में परेशानी, दिल की धड़कन तेज होना और मसल्स में कमजोरी जैसी परेशानियां हो रही है। कोरोना से बचाव जितना आवश्यक है उतना ही इससे टीक होने के बाद अपनी देखभाल करना भी जरूरी है। रिपोर्ट निगेटिव होने के बाद पीड़ित को अनुशासित जीवनशैली जीने की जरूरत है। उसे अपने खान-पान और लाइफ स्टाइल में बदलाव करने की जरूरत है ताकि वो तंदुरूस्त जिंदगी गुजार सके। कोरोना से ठीक होने के बाद आपका खान—पान में क्या बदलाव होना चाहिए। यह हम आपको बताते हैं—
नाश्ते में अपनी पसंद की दाल, सब्जी और रोटी का इस्तेमाल करें। नाश्ते के दो घंटे बाद अंकुरित अनाज, सलाज और फल का इस्तेमाल करें, ताकि आपको पोष्क तत्व पर्याप्त मात्रा में मिल सकें। दोपहर के खाने में रोटी, सब्जी, दाल, दही, गाय का घी ले सकते है। अगर आप नॉन वेज का इस्तेमाल करते हैं तो अंडा भी अपनी डाइट में शामिल करें। सीजनल सब्जी का इस्तेमाल करें। सलाद का जरूर इस्तेमाल करें। लंच और डिनर के बीच पोहा, सूप व दलिया को शामिल कर सकते हैं। रात के खाने में लाइट चीजें खाएं। एक या दो रोटी, एक कटोरी दाल, एक कटोरी सब्जी खाएं। वायरस हमारे शरीर में मौजूद एंजाइम व हार्मोन को प्रभावित करता है। इसलिए भोजन नहीं पचने की समस्या हो सकती है। जरूरी है कि आप जंक फूड और ऑयली फूड से परहेज करें। कोरोना रिकवरी होने के बाद भी मुंह का स्वाद ठीक नहीं रहता इसलिए कुछ भी खाने-पीने का मन नहीं करता। आप खाने से जी नहीं चुराएं बल्कि अपनी पसंद का पौष्टिक आहार जरूर खाएं। सुबह के नाश्ते में प्रोटीन का इस्तेमाल ज्यादा करें। दिन में कम से कम तीन लीटर पानी जरूर पीएं। शरीर से टॉक्सिन बाहर निकालने के लिए गर्म पानी में नींबू डालकर इस्तेमाल करें। रात में सोते समय हल्दी व दूध लें। कोरोना से रिकवरी के बावजूद आपको अपना इम्यून सिस्टम बूस्ट करने की जरुरत है। आप इम्यूनिटी बूस्ट करने के लिए काढ़े का इस्तेमाल कर सकते है। नाश्ते में आवला और तुलसी का सेवन करें। विटामिन डी का सेवन करें। कोरोनावायरस का सबसे ज्यादा असर फेफड़ों पर पड़ता है इसलिए आप फेफड़ों को मजबूत करने वाला प्राणायाम करें। कपालभाती और अनुलोम-विलोम का अभ्यास करें। कोरोना से रिकवरी के बाद भी घबराहट हो सकती है इसलिए आप कोशिश करें के दिन में दो बार 15 मिनट तक टहलें।

Gyan Dairy
Share