8 बातें जो पुरूष बर्दाश्‍त नहीं करते

जो इंसान एक मक्‍खी को भी बर्दाश्‍त नहीं कर सकता, वह कई बार नरक जैसी जिंदगी को बर्दाश्‍त करता है। इस तकनीकी भरे युग में पुरूषों की सहन शक्ति जबाव दे रही है। खेल के दौरान लाइट का न आना जैसी छोटी – छोटी बातें भी उन्‍हे परेशान कर सकती है। कुछ लोग करप्‍शन को बर्दाश्‍त नहीं कर पाते है तो कुछ कट्टर सिद्धांतो को मानना पसंद नहीं करते है। हर पुरूष की अलग पसंद होती है और उन्‍हे कई बातें अच्‍छी नहीं लगती है।

पुरूषों को झूठ, तर्क, तुलना जैसी कई बातों से नफरत होती है, उन्‍हे कम आईक्‍यू वाली महिलाएं भी पसंद नहीं आती है। पुरूष, महिलाओं की अपेक्षा शारीरिक तनाव सहन करने में दृढ़ होते है लेकिन मानसिक तनाव या छोटी – छोटी बातें उन्‍हे अक्‍सर झकझोर देती है। महिलाएं, प्रेम और स्‍नेह से हर दौर से निकल जाती है लेकिन पुरूषों के लिए ऐसा करना मुश्किल होता है।

कई बार पुरूष सहनशक्ति न होने के कारण दिक्‍कत में भी पड़ जाते है। पुरूषो को प्‍यार में विश्‍वासघात, धोखेबाजी वाला व्‍यवहार आदि अंदर तक हिला देते है जिसे वह बर्दास्‍त नहीं कर पाते है। पुरूषों को ज्‍यादा प्‍यार और स्‍नेह की जरूरत हमेशा पड़ती है, वह हैंडल विद केयर वाले लोग होते है। उन्‍हे अन्‍याय या अनुचित बात पसंद नहीं होती है। ऐसी ही कई और बातें है जो पुरूषों को पसंद नहीं आती है।

असंतोषजनक कार्य और कॅरियर

पुरूष कभी भी ऐसी जगह या ऐसे प्रोफेशन में काम करना पसंद नहीं करते है जो उन्‍हे अच्‍छा न लगता हो। वह हमेशा ऐसे काम को करना पंसद करते है जिसमें वह एंजाय कर सकें, मन लगाकर काम कर सकें, उन्‍हे हर वक्‍त काम करना पसंद नहीं आता है। इसलिए पुरूष हमेशा असंतोषजनक कार्य को करना पसंद नहीं करते है।

बहुत ज्‍यादा बात करना

पुरूषों को ज्‍यादा बक – बक करने वाले लोग या लड़कियां पसंद नहीं आती है। उन्‍हे गंभीर प्रवृत्ति के लोग हमेशा पसंद आते है। अगर उनकी पार्टनर भी ज्‍यादा बात करती है तो वह सिर्फ सुनना पसंद करते है।

बेईमानी

यह आदत सभी पुरूषों में होती है। चाहें कोई खुद कैसा भी हो, लेकिन उसे बेईमानी से बहुत नफरत होती है। पुरूषों को झूठ और धोखे से नफरत होती है। उन्‍हे अक्‍सर सच्‍चे और ईमानदार लोग पसंद आते है।

Gyan Dairy

दाम्पत्य-विश्वासघात

पुरूषों को दाम्‍पत्‍य जीवन में विश्‍वासघात बिल्‍कुल पसंद नहीं है। वह अपने पार्टनर से पूर्णत: वफादारी की उम्‍मीद रखते है। शादी या रिलेशन में वह हमेशा, लॉयलिटी चाहते है। अगर उनका पार्टनर उनके साथ विश्‍वासघात करता है तो वह अक्‍सर आपे से बाहर हो जाते है। उन्‍हे रिश्‍ते में ईमानदारी पसंद होती है और वे रक्षा और सम्‍मान के लिए किसी भी हद तक चले जाते है।

तर्क

पुरूषों को तर्क करना पसंद नहीं होता है, वो भी बिना वजह के तर्क। कई बार लोग बिना वजह के बात करते चले जाते है और बहस भी करते है, पुरूषों को ऐसी आदतों से नफरत होती है। पुरूषों का मानना है कि बात हमेशा तर्क पर करनी चाहिए। बिना तर्क के बात करना बेवकूफी है।

दोहराना

पुरूषों को इस बात से सख्‍त नफरत होती है कि कोई उनके काम और उनकी बातों को दोहराएं। पुरूषों को कभी भी पसंद नहीं आता है कि उनके तरीके से कोई कॉपी करे। कई बार वह मना भी करते है लेकिन अंदर ही अंदर उनका गुस्‍सा उबल रहा होता है।

अस्‍वस्‍थ्‍य रहना

पुरूषों को स्‍वस्‍थ शरीर हमेशा अच्‍छा लगता है। उनके लिए जीवन में हेल्‍दी और फिट रहना सबसे ज्‍यादा जरूरी होता है। इसलिए उन्‍हे अनहेल्‍दी लोगों को अक्‍सर सलाह देते हुए भी देखा जा सकता है। वह अपने पार्टनर को भी हमेशा चुस्‍त और दुरूस्‍त देखना चाहते है।

तनाव

पुरूषों को बिल्‍कुल अच्‍छा नहीं लगता कि वह हर समय तनाव में रहें या उनके साथ का कोई हमेशा काम और टेंशन का रोना रोता रहे। पुरूषों को बेढंगें काम और उनके करने का बेकार तरीका भी कभी रास नहीं आता है। पुरूषों को एक्‍सूरेसी वाला काम पसंद आता है। किसी भी तरह के तनाव में पुरूषों को काम करना अच्‍छा नहीं लगता है।

Share