कहीं मोबाइल एडिक्ट तो नहीं हो रहे हैं आप, जानिए लक्षण

नई दिल्ली। आज के समय में मोबाइल ने हर काम आसान कर दिया है। हालांकि कई लोग मोबाइल फोन एडिक्ट हो गए हैं। रात को सोते समय मोबाइल देखते हैं और सुबह उठते ही पहले मोबाइल देखते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि सुबह उठते ही मोबाइल का इस्तेमाल सेहत को नुकसान पहुंचाता है।

हमेशा अपने दिन की शुरुआत बिना किसी तनाव और चिंता के शांति से करना बेहतर होता है। अगर सुबह उठते ही मोबाइल हाथ में लिया तो फोन मैसेजेस, ई-मेल्स, रिमांडर, इंस्टाग्राम पोस्ट्स आदि से भरा होता है, जो चिंता और तनाव की वजह बन सकता है। नींद से उठते ही अगर सोशल मीडिया चेक करने लगते हैं तो दिमाग उसी में बंध जाता है और गैर-जरूरी जानकारियों से भर जाता है। दिन की शुरुआत तनाव और चिंता से करना सेहत के लिए ठीक नहीं होता है।

चिड़चिड़ापन बढ़ता है

सुबह उठते ही मोबाइल फोन चेक करते हैं तो न चाहते हुए भी चिड़चिड़ापन आ जाता है। सुबह के रूटीन की शुरुआत मोबाइल से होने पर स्वभाव में बदलाव आ सकता है। इसका कारण यही है कि सुबह उठकर मोबाइल में अलग कोई ऐसी बात देख ली जो नकारात्मक है तो इसका सीधा असर मूड पर पड़ता है।

कार्यक्षमता पर असर

Gyan Dairy

सुबह का पहला काम मोबाइल देखना हो तो नोटिफिकेशन देखने के बाद कई बार दिमाग उसी विषय में सोचने लगता है। इससे दूसरे काम में मन नहीं लगता और ऐसा होने पर कार्यक्षमता पर असर पड़ता है।

अवसाद की आशंका

रात को सोते समय भी मोबाइल और उठते समय भी मोबाइल देखने वालों के साथ तो स्थिति और खराब हो सकती है। नियमित रूप से ऐसा रूटीन फॉलो करने वाले डिप्रेशन के शिकार हो सकते हैं। इसकी वजह तुलना भी हो सकती है। सुबह उठते ही फेसबुक, इंस्टाग्राम, व्हाट्सऐप स्टेटस आदि देख लेने से कई बार लोग तुलना में फंस जाते हैं। जिसकी वजह से डिप्रेशन की स्थिति तक आ सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share