रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में सहायक हैं तुलसी के बीज

नई दिल्ली। कोरोना से बचने के लिए रोग प्रतिरोधक क्षमता का मजबूत होना बेहद जरूरी है। रोग प्रतिरोधक के मजबूत रहने से ही इस खतरनाक बीमारी को खुद से दूर रखा जा सकता है। रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए लोगों को सलाह दी जाती हैं कि तुलसी का इस्तेमाल करें। तुलसी ऑयुर्वेदिक औषधि है। तुलसी के बीज भी इसमें सहायक साबित हो रहे है। जिस तरह तुलसी इम्यूनिटी बूस्ट करती हैं उसी तरह तुलसी के बीज भी इम्यून सिस्टम को बढ़ाते हैं। ये तिल के बीजों की तरह ही दिखते हैं जिनका रंग काला होता हैं। तुलसी के बीज खाने से आपका पाचन दुरूस्त रहता है, ब्लड शुगर नियंत्रित रहता, साथ ही तनाव से भी मुक्ति मिलती हैं। गर्मी के लिए तुलसी के बीज बेस्ट फूड है। आपको गर्मी ज्यादा लगती है तो तुलसी के बीज का इस्तेमाल करें, ये बीज नैचुरल कूलेंट के रूप में काम करते हैं जिससे आपको गर्मी कम लगती है। वजन कम करने के लिए सारी फंडे आजमा कर थक चुके है तो तुलसी के बीजों का सेवन करें।

तुलसी के बीजों में अल्फा-लिनोलेनिक एसिड प्रचूर मात्रा में मौजूद रहता हैं, जो ओमेगा-3 फैटी एसिड है। ये बीज भूख को कम करने में मदद करते हैं। तुलसी के बीज शरीर को डिटॉक्स करते हैं और स्टूल पास करने में मदद करते है। तुलसी के बीजों को गर्म पानी या दूध के साथ लेने से पाचन संबंधी समस्याएं और पेट की सूजन को दूर किया जा सकता है। तुलसी के बीज वायरल, कॉमन कोल्ड और फ्लू जैसी समस्याओं से भी राहत दिलाते हैं। तुलसी के बीज के एंटीस्पास्मोडिक गुण सूखी खांसी का इलाज करने में मदद करते हैं। इतना ही नहीं ये मांसपेशियों के तनाव को भी कम करते हैं। तुलसी के बीज ना सिर्फ आपका इम्यून सिस्टम इम्प्रूव करते हैं, बल्कि इसके इस्तेमाल से शुगर भी कंट्रोल में रहती हैं। तुलसी के बीज में मौजूद डायटरी फाइबर ब्लड शुगर के स्तर को नियंत्रित करता है। रात को तुलसी के एक चम्मच बीजों को पानी में भिगो दें। सुबह एक गिलास दूध में इन बीजों को मिलाएं। इसे रोज पीने से आपकी दिन भर की इंसुलिन संवेदनशीलता में सुधार हो सकता है। तुलसी के बीजों में भरपूर एंटीऑक्सिडेंट और फ्लेवोनॉयड्स होते हैं जो स्किन को हेल्दी बनाते हैं। ये नई कोशिकाओं के विकास को बढ़ाते हैं। इन बीजों का इस्तेमाल नारियल के तेल के साथ मिलाकर करने से एक्जिमा और सोरायसिस जैसी स्किन की बीमारियों से निजात मिल सकती है। तुलसी के बीजों में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट बालों के बढ़ने में मदद करते हैं। इसके इस्तेमाल से बालों के झड़ने की समस्या से निजात पाई जा सकती है। ये स्कैल्प में होने वाली सूजन और ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस को रोकने में भी मदद करते हैं।

Gyan Dairy

 

Share