क्‍या आपका भी पति पराई महिलाओं को घूर-घूर कर देखता है?

शादी-शुदा महिलाओं को अक्‍सर इस बात का मलाल रहता है कि उनके पति, शादी के बाद हर तरह से संतुष्‍ट होने के बाद भी दूसरी महिलाओं या लड़कियों को चुपचाप देखना पसंद करते हैं और पकड़े जाने पर उनकी कमियों को बताने की कोशिश करते हैं। कई महिलाओं को पुरूषों की इस आदत से चिढ़ मचती है और उनकी नफरत का कारण ये सबसे ज्‍यादा होता है। कई महिलाओं को आश्‍चर्य होता है कि पुरूष ऐसा क्‍यूँ करते हैं।

इस बारे में पुरूषों का कहना है कि ये एक कुदरती आदत है। इस बात का इससे कोई मतलब नहीं है कि वो अपनी पार्टनर को प्‍यार नहीं करते हैं। चलिए इस बारे में पढ़ते हैं अन्‍य तर्कों को

Gyan Dairy
  • लगभग सभी पुरूषों को ऐसा करना पसंद होता है। उनकी पार्टनर कितनी भी अच्‍छी और सुंदर हो, लेकिन वो अन्‍य लड़कियों को देखना पसंद करते हैं। बहुत कम ही पुरूष ऐसे होते हैं जिन्‍हें बाकी औरतों से कोई मतलब नहीं होता है।
  • रंगे हाथों पकड़ने पर पुरूष, कई बार ये तर्क देते हैं कि वो क्‍या गलत काम कर रहे थे जो उन पर इतना गुस्‍सा किया जा रहा है। लेकिन पार्टनर की अनुपस्थि‍ति में ऐसा करना गलत लग सकता है और इससे रिश्‍ते में खटास आ सकती है।
  • कुछ पुरूष वाकई में गलत होते हैं। ऐसे पुरूषों को वूमनाइज़र कहा जाता है क्‍योंकि वो किसी एक पार्टनर के साथ रहते हुए बोर हो जाते हैं। उन्‍हें कुछ-कुछ समय पर बदलाव चाहिए होता है, इस वजह से वो ऐसा करते हैं।
  • पुरूषों की इस आदत को कैसे बदला जा सकता है। महिलाएं इससे सहमत नहीं होती है और उन्‍हें लगता है कि पुरूषों को इस आदत को बदलना होगा, पर वो कभी बदल भी नहीं सकते हैं। भले ही इससे उनकी निजी जिंदगी में दिक्‍कतें आने लगे। वहीं कुछ पुरूषों को सिर्फ अपनी ही पत्‍नी पर भरोसा और प्‍यार आता है और वो किसी की तरफ देखने की इच्‍छा भी नहीं रखते हैं।
  • अगर किसी महिला का पति सालों बाद भी नहीं बदलता है तो ऐसे में रिश्‍ते, टूटने की कगार पर आ जाते हैं। उसकी प्राथमिकताएं और जरूरतें बदलने लग जाती है, वह घर के बजाय बाहर खुशियों को तलाश करने की कोशिश करते हैं। ऐसे पुरूषों से बात करना ही सही उपाय हो सकता है, वो भी तब, जब वो उस मुद्दे की गंभीरता को समझ पाएं।
Share