जानें घर बैठे कैसे करें एचआईवी की जांच

नीता पिछले कई महीनों से कमजोरी महसूस कर रही थी। उसके शरीर में होने वाले बदलावों और हर वक्त रहने वाली थकावट के लक्षण एचआईवी पोज़िटिव के मरीजों से मिलते-जुलते लग रहे थे। ऐसे में नीता को अपने ऊपर शक हुआ, लेकिन शर्म और झिझक के चलते वो एचआईवी टेस्ट कराने अस्पताल भी नहीं जा सकती थी। तो उसने इंटरनेट पर इस संबंध में सर्च किया और ओराक्वीक टेस्ट के बारे में जाना कि कैसे इस टैस्ट की मदद से घर बैठे खुद का एचआईवी टेस्ट किया जा सकता है।

चलिए ओराक्वीक टेस्ट के बारे में विस्तार से जानें :-

एचआईवी टेस्ट

जी हां! आप खुद घर बैठ कर एचआईवी टेस्ट कर सकते हैं। ये बहुत ही आसान है। इसे सामान्य तरीके से मसूड़ों की मालिश करके यह पता लगाया जा सकता है कि कोई व्यक्ति एचआईवी से पीड़ित है या नहीं।

Gyan Dairy

मलावी में सामान्य है ये

अफ्रीकी देश मलावी में एचआईवी टेस्ट करने की प्रक्रिया काफी मंहगी है। जिसके कारण लोग इस तरीके से घर पर ही खुद का एचआईवी टोस्ट कर रहे हैं।

ओराक्वीक टेस्ट

  • ओराक्वीक टेस्ट एचआईवी टेस्ट करने की किट है।
  • यह किट प्रेगनैंसी टेस्ट किट की तरह दिखती है।
  • इसका डिजायन औऱ आकार भी प्रेगनैंसी टेस्ट मशीन की तरह किया गया है जिससे की परिणाम तेजी से पता चल सके।
  • इस मशीन का नाम ओराक्वीक टेस्ट है।

कैसे काम करती है ये मशीन

  • ओरा क्वीक टेस्ट मसूड़ों के तरफ लगाई जाती है।
  • ऊपर और नीचे के मसूड़ों की सही तरीके से मालिश करके इस किट को मसूड़ों में लगाएं।
  • ये किट 20 मिनट बाद रिजल्ट बता देती है।
  • अगर टेस्ट स्टिक में सी लिखा हुआ आए, तो आपको एचआईवी नहीं है।
  • वहीं अगर किट पर टी लिखा आए, तो मतलब कि टेस्ट करने वाला एचआईवी पॉज़िटिव है।

नतीजे 90 फीसदी सटीक

  • कई बार लोगों को इस किट के नतीजों पर शक होता है। लेकिन इस किट को बनाने वाली कंपनी का दावा है कि नतीजे 90 फीसदी सटीक आते हैं।
  • इस टेस्ट किट को अमेरिकी फूड एंड ड्रग प्रशासन ने भी स्वीकार किया है। इस किट की कीमत 60 डॉलर मतलब कि लगभग 3,800 रुपये है।
  • लेकिन एक अभियान के तहत इसे मलावी में लोगों को मुफ्त बांटा जा रहा है।
  • इस अभियान के सलाहकार रॉड्रिक सांबाकुंसी के अनुसार, “बहुत सारे लोग खुद का परीक्षण कर रहे हैं। वह इससे काफी खुश है। स्थानीय नेताओं, चर्चों और समुदायों से भी हमें मदद मिल रही है।”

नोट – किट की सफलता को देखने के बावजूद भी स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने लोगों को चेतावनी दी है कि वे एचआईवी पॉजिटिव आने पर भी हो सके तो अपने खून की जांच एक बार जरूर कराएं।

Share