कैसे पढे़ अपने पाटर्नर का दिमाग?

किसी भी ब्‍याह में लडा़ई-झगडा़ होना बिल्‍कुल आम सी बात होती है, इसमें कोई छुपाने और शर्माने वाली बात नहीं है। जब पति अपनी पत्‍नी के मन की बात को समझ नहीं पाता तो पत्‍नी को ऐसा लगता है कि उसका पति उससे प्‍यार नहीं करता और धीरे-धीरे यही अनदेखी बीवी का दिल जला देती है जिससे घर में अशांति फैल जाती है।

यदि आपके रिश्‍ते में भी निराशा के बादल छाने लगे हैं तो आपको जरुरत है अपने पाटर्नर के दिमाग को पढ़ने की। नीचे कुछ सुझाव दिये गए हैं जिन्‍हें आजमा कर आप अपने पाटर्नर को और भी अच्‍छी तरह से समझ सकेगे और अपने रिश्‍ते को मजबूत बना सकेगे।

आपनी प्रतिक्रिया पर अंकुश लगाइये

किसी भी कही गई बातचीत पर अपना तुरंत रियेक्‍शन ना दिखाएं। सबसे पहले यह सोचे कि आपके पाटर्न के दिमाग में क्‍या चल रहा है और फिर उस हिसाब से अपना उत्‍तर तैयार करें। ऐसा करने से 50 प्रतिशत तक की बहस टल सकती है।

बाते कम और सुने ज्‍यादा

अपने रिश्‍ते में चुप रहना बहुत अच्‍छी बात है। यदि आप चुप रह कर केवल अपने पाटर्नर की बातों को ध्‍यान से सुनेगे तो आप उसे और भी अच्‍छी तरह से जान सकेगे। नहीं तो आप दोनों एक दूसरे के लिये पहेली बन कर रह जाएंगे।

सुराग ढूंढिये

कई लोगों कि आदत होती है कि वे गुस्‍सा होने पर घर का कोई कोना पकड़ लेगे और गुमसुम हो जाएंगे। यह आपके पाटर्नर का एक लक्षण है जिसे आपको ध्‍यान दे कर पहचानना होगा जिससे आपको पता चल सके कि वह अपसेट है।

Gyan Dairy

उनकी पसंद-नापसंद जानिये

जब आप अपने पाटर्नर के साथ ज्‍यादा समय बिताएंगे तो आपको उनकी पसंद और नापसंद का पता चलेगा। यह एक जानकारी होगी जिसकी मदद से आप उनके मूड को अच्‍छी प्रकार से पहचान सकेगे।

इशारे समझिये

कई बार बातों से ज्‍यादा इंसान के हाव-भाव उसके दिमाग के बारे में बताते हैं। ऐसा करने से आप अपने पाटर्नर के दिमाग की बातों को समझ पाएंगे। यदि आपके पति ऑफिस से आ कर सोफे पर गिर जाते हैं तो इसका मतलब है कि वे थके हुए हैं और उन्‍हें अकेलापन चाहिये।

ट्रिगर दबाइये

हो सकता है आपका खराब मूड रोमांचक खेल खेलने के बाद या फिर कोई टेस्‍टी डिश खाने पर बदलता हो। हर इंसान को कुछ ना कुछ ऐसा करना पसंद होता है जिसको करते ही उसका खराब मूड बुरे से अच्‍दा हो जाता है, तो ऐसे में अपने पाटर्नर का भी ट्रिगर दबाइये और उनका खराब मूड बदल डालिये।

Share