कैसे सम्भलें प्रेम सम्बन्ध बिगड़ जाने के बाद?

आपको सबूत मिल गया है, आपने अपने जीवनसाथी का सामना किया है। अब आप पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं की क्या शादी को ठीक किया जा सकता है। आप सोच रहे होंगे की क्या आप कभी फिर से प्यार पर विश्वास कर सकते है। या अपने जीवनसाथी के प्रेम सम्बन्ध का पता लगने से दुख, क्रोध, और ईर्ष्या से उभरने में सक्षम हो जायेंगे, तो आपकी भावनाएं और चिंताएं पूरी तरह से सामान्य हैं। अपने दु:ख में अकेला महसूस करना और यह सोचना कि इस प्रक्रिया में आगे क्या होगा, आपको नहीं सोचना चाहिए।

लेकिन, आप इस निबन्ध पर नज़र डालकर अगले क्रम का पता लगा सकते हैं। इससे आपको खुलासा मिलेगा की आप इस लंबे, काले सड़क के अंत में क्या पाने की उम्मीद कर सकते हैं।

Gyan Dairy

कैसे सम्भलें प्रेम सम्बन्ध बिगड़ जाने के बाद

  • यह सिर्फ ‘बुरा सपने’ की तरह नहीं है। इस चरण के दौरान आप शारीरिक रूप से बीमार हो सकते हैं। काम करने जाएँ, या अपनी रोजमर्रा की दुनिया में अन्य लोगों के साथ बातचीत कीजिये। आप सिर्फ प्रेम सम्बन्ध के बारे में सोचते रहते हैं। यह असामान्य नहीं है की आप ऐसे प्रसंग में हो जब आप रोयें, चीजें फेंके, वस्तुये तोडे, चिल्लाएं, लडे और नियंत्रण से बाहर बर्ताव करें। लेकिन याद रखियें कि यह चरण समाप्त हो जाएगा।
  • क्रोध को छोड़ दीजियें। इस चरण में, प्रारंभिक हिंसक सक्रिय क्रोध शांत हो जाता है। आपको हल्का सा दर्द होता है और भावनात्मकता ख़तम होने का एहसास होता है। आम तौर पर इस समय पर आप या तो सुलह की धारणा रखना शुरू करते हैं, या शादी का अंत करने कदम उठाना शुरू करते हैं। बहुत गहरी चोट लगने के बावजूत, आप ज्यादा तार्किक सोचना शुरू करते हैं। आप बदले की भावना नहीं रखते, बल्कि आप अपने जीवन व लक्ष्यों का आकलन करने में ज्यादा रुचि रखते हैं। आप सोचते है की अब अपने शादी को आप क्या मोड़ देना चाहते हैं। इस चरण में, आप अक्सर लड़ने से, रोने से, या दीन में 24 घंटे इस दहशत का फिर से अनुभव करके थक गएँ हैं।
  • फिर से विश्वास करना सीखें। यह एक मुश्किल दौर है, चाहे आप अपने मौजूदा संबंधों को सुधारने की कोशिश कर रहे हो, या एक नयी शुरूवात करन चाहते हो। लेकिन, कोई भी नया रिश्ता जल्दी शुरू करने के लिए ये समय उचित नहीं है। आपको ठीक होने के लिए समय चाहिए और अपनी दुनिया में किसी अन्य व्यक्ति को लाने से पहले आराम महसूस करना जरूरी हैं।
  • जल्दबाजी में आकर कुछ मत करें। जल्द प्रतिक्रिया कुछ नाम, स्थान और घटनाएँ हैं। यह आपके जीवनसाथी के प्रेम सम्बन्ध या रिश्ते की दर्दभरी याद दिलाते हैं। शायद वह कोई खास गाना है जो प्रेम सम्बन्ध के वक़्त लोकप्रिय था।
  • यथार्थवादी लक्ष्य रखियें। यह समय हैं जब आपको इस बात का पता लगाना है की क्या आप अपने संबंध को जारी रखने में सक्षम हैं या नहीं। बेशक, यह पहले जैसा कभी नहीं हो सकता। अगर आपको लगता है कि समय के साथ यह संबंध ठीक किया जा सकता है, तो अपने शादी को जारी रखना यथार्थवादी लक्ष्य है। अगर, दूसरी ओर, आपके जीवनसाथी प्रेमसम्बन्ध स्वीकार करने से मना करते है, सवाल का जवाब नहीं देते, संदेह से बर्ताव करते है, आपको पता लगाने की जरूरत है की क्या आप वास्तव में इनके साथ जीना जारी रख सकते हैं। यदि नहीं, तो सुलह करना एक यथार्थवादी लक्ष्य नहीं है।
  • अपने आप पर कठोर मत बनिए और नए विकास के लिए खुला रहियें। एक प्रेम सम्बन्ध के बाद खुद के बारे में, अपने जीवनसाथी, और अपने रिश्ते के बारे में बहुत कुछ सीखा जा सकता है। केवल दर्द पर ध्यान केंद्रित करने से यक़ीनन सबक को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता।
Share