बढ़े हुए पेट से हैं परेशान तो करें नौकासन का नित्य अभ्यास

नई दिल्ली। सुबह जल्दी उठकर नित्य कार्यो से निवृत्त होने के बाद व्यायाम करना सेहत के लिए बहुत लाभकारी होता है। जो लोग रोज व्यायाम करते हैं। उन्हें कई बामारियां नही सताती है। योग के नियमित अभ्यास से शरीर को सही आकार मिलता है। बढ़े हुए पेट से परेशान रहते हैं तो इसका उपचार भी योग के माध्यम से कर सकते हैं। रोज नौकासन करने से पेट पर बढ़ी हुई चर्बी खत्म हो जाएगी और आप सुडौल दिखायी देंगे। नौकासन करने के लिए सबसे पीठ के बल लेट जाएं। दोनों पैरों को एक साथ कर लें। दोनों हाथों को पैरों के पास रख लें। इसके बाद एक लंबी गहरी सांस लें और सांस छोड़ते हुए हाथों को पैरों कि तरफ खींचे और अपने पैरों एवं सीने को उठाएं। आपकी आंखें, हाथों कि उंगलियां व पैरों कि उंगलियां एक सीध में होनी चाहिए। पेट की मासपेशियों के सिकुड़ने के कारण नाभि में हो रहे खिंचाव को महसूस करें। लंबी गहरी सांस लेते रहें और आसन को बनाये रखें। सांस छोड़ते हुए, धीरे से जमीन पर आ जाएं और विश्राम करें। वैसे तो नौकासन पद्मासन का भी अंग है लेकिन केवल यहीं एक आसन के रोजाना अभ्यास से भी पेट अंदर चला जाएगा।

नौकासन को रोजाना करने से कमर और पेट की मांसपेशियों में मजबूती आती है। साथ ही हाथों-पैरों को भी सही आकार मिलने के साथ मजबूती मिलती है। लेकिन अगर किसी व्यक्ति को हाई ब्लड प्रेशर, माइग्रेन या पीठ से संबंधित समस्या रही हो तो उन्हें इस आसन से परहेज करने में ही भलाई है। साथ ही दिल के मरीज और अस्थमा के मरीजों को भी नौकासन नहीं करना चाहिए। साथ ही गर्भवती महिलाओं को भी ये आसन नहीं करना चाहिए।

Gyan Dairy
Share