क्या संबंधों में उम्र में अंतर होना आवश्यक है?

प्राचीन भारतीय ग्रन्थ के अनुसार सफल वैवाहिक जीवन के लिए पुरुष को ऐसी स्त्री से विवाह करना चाहिए जिसकी उम्र पुरुष की उम्र से एक तिहाई हो। परन्तु क्या संबंधों में उम्र का अंतर होना महत्वपूर्ण है? संबंध उन दो व्यक्तियों के आपस में जुड़ने से बनता है जो एक दूसरे की अच्छाई और बुराई को अपनाकर जीवन में आगे एकसाथ चलना चाहते हैं।

वे एक दूसरे के साथ सामंजस्य बिठाना चाहते हैं परंतु क्या बात पर उम्र के अंतर का प्रभाव पड़ता है? जी हाँ, इसका प्रभाव पड़ता है। समाज के नियमों का निर्माण जैविक, शारीरिक, भावनात्मक और वित्तीय पहलुओं को ध्यान में रखकर किया गया है। आयु व्यक्ति में स्थिरता और परिपक्वता के स्तर के साथ जुड़ी हुई है जो एक संबंध में होना बहुत आवश्यक होता है। हालाँकि इस बात पर कई विरोधी दृष्टिकोण हैं कि “ क्या संबंधों में उम्र का कोई महत्व होता है?” कई प्रमुख कारण है जो इस तरह के नियम के लिए ज़िम्मेदार हैं।

जैविक पहलू

क्या संबंध में उम्र में अंतर होना महत्वपूर्ण होता है? जी हाँ, जैविक रूप से यह सत्य है। पुरुष अपनी उम्र से 2 वर्ष कम समझदार होते हैं जबकि महिलायें अपनी उम्र से 2 वर्ष अधिक समझदार होती हैं। अत: उम्र में अंतर रखने की सलाह दी जाती है।

भावनात्मक संतुलन

बड़ा व्यक्ति अक्सर भावनात्मक स्थिरता के साथ जुड़ा हुआ होता है जबकि छोटा व्यक्ति आवेशी होता है। अत: संबंध में संतुलन बनाये रखने के लिए उम्र में अंतर होना आवश्यक होता है। अत: पुन: यह वाद का विषय होता है कि “क्या संबंधों में उम्र का अंतर होना आवश्यक होता है”?

आर्थिक सुरक्षा

उम्र और अनुभव के साथ ही आर्थिक स्थिरता आती है। एक स्टार्टर (आरंभक) के पास असंख्य पहलू होते हैं जैसे जीवन में बसने से पहले उसे अपना बैंक बैलेंस आदि बनाना पड़ता है। उम्र में उचित अंतर होने से शादीशुदा जीवन स्थिर होता है तथा छोटी छोटी बातों के लिए झगड़े नहीं होते।

परंपरा

पारंपरिक रूप से पुरुष को घर का मुखिया माना जाता है और इसलिए उसे आदर देना आवश्यक होता है। जोड़ी की सामजिक स्वीकृति के लिए यह आवश्यक भी है।

Gyan Dairy

रजोनिवृत्ति से संबंधित पहलू

क्या किसी संबंध में उम्र में अंतर होना होना महत्वपूर्ण होता है? जी हाँ, यदि आप रजोनिवृत्ति की उम्र को ध्यान में रखें तो पुरुषों में 50 वर्ष की उम्र के बाद रजोनिवृत्ति आती है जबकि महिलाओं में यह उम्र 45-48 के बीच होती है।

भविष्य में साथ साथ

लोग 60-65 वर्ष की उम्र में रिटायर (सेवानिवृत्त) होने के बारे में सोचते हैं। एक 35 वर्ष की महिला अपने जीवन का भरपूर आनंद उठाना चाहती है और अपने 60 साल के पति की तरह रिटायर होने के बारे में नहीं सोचती; उसी प्रकार यदि दोनों एकसाथ रिटायर होते हैं तो उनमें सामंजस्य बैठने में समस्या आ सकती है। उदाहरण के लिए एक जोड़ा जिनमें 3 वर्ष का अंतर है वह अपनी पत्नी के रिटायर होने के पहले रिटायर होने के तनाव से गुज़र चुका होता है।

रिश्तों से संबंधित मुद्दे

बड़ा साथी छोटे साथी को बच्चा समझता है; यह एक सीमा तक ठीक है परन्तु किसी भी चीज़ की अति ख़राब होती है। समान उम्र के लोगों में यह चीज़ बिलकुल नहीं मिलती जबकि उम्र में अधिक अंतर होने पर अधिक देखभाल से संबंधों में समस्या आ सकती है।

बिस्तर पर संबंध

स्वस्थ सेक्स जीवन के लिए तथा भविष्य में आगे परिवार की योजना बनाने के लिए उमे में उचित अंतर होना आवश्यक होता है। विभिन्न आयु समूह के लोगों की सेक्स में रूचि भिन्न होती है।

Share